इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन भारत में खर्च  | How to open an electric car charging station in India

इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन भारत में खर्च | How to open an electric car charging station in India

तेल की बढ़ती कीमतें हर किसी को डरा रही है,हालांकि भारत सरकार की तरफ से Oil price को कम किया गया है.जिसमें पेट्रोल और डीजल सामिल है.


फिर भी इतना सस्ता नहीं किया गया,जितने दाम कम होने चहिऐ था और देखा जाऐ तो अभी भी तेल की कीमत इसमें चाहे Petrol हो यां फिर Desil कहीं ना कहीं ज्यादा है.


जिस हिसाब से तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है,एक आम इंसान जो महिने का 20,000 हज़ार कमाता है यां फिर किसी Company में कोई छोटी — मोटी Job कर रहा है.


how to start charging station business | how to start an electric car charging station business | इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन
vishvtrading.com



इसके बिना चाहे कोई छोटा व्यावारी है,चाहे एक गरीब आदमी इतने मंहिगे petrol/diesel  को बाईक में भरवाने के लिए कहीं ना कहीं एक बार तो सोचता है.


तो ऐसे में लोग Petrol/diesel की बढ़ती कीमतों से दुखी होकर लोग बिजली से चलने वाले वाहनों की तरफ बढ़ रहे ऐ.

ऐसे में कंपनीयां भी इस बात को अच्छी तरहां से समझ गई और लोगों की बढती मांग को देखते हुऐ उन्होंने इलेक्ट्रिक वाहन को मारकीट में उतारा.



-------------------------------------

कुछ लोग सोच रहे है,की इलेक्ट्रिक बाइक जो की पहिले भारत में आई थी,उनकी बैटरी खराब हो जाती थी. लेकिन,अब की जो इलेक्ट्रिक बाइक आ रही है.

इसमें चाहे इलेक्ट्रिक स्कूटर | इलेक्ट्रिक स्कूटी  हो यां फिर Electric car यां Electric motorcycle इनमें पहिले से काफी सुधार किया गया,इन सब में बैटरी की लाईफ में सबसे ज्यादा ध्यान दिया और पहिले से यह Bike काफी बहेतर कर दी गई है.


इसके बिना अगर बात भारत सरकार की की जाए तो Bharat Sarkar इलेक्ट्रिक व्हीकल को लेने के लिए ज्यादा जोर डाल रही है.इसके बिना indian Government ने संसदीय बजट में Bijli se chalne wali gadiyan पर जो ब्याज दर 


काफी हद तक कम किया है,ताकि लोग ज्यादा से ज्यादा जो इलेक्ट्रॉनिक वाहन को खरीद फरोख्त कर सकें,बात करें ब्याज दर की इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियों पर तो जो पहले 12 पर्सेंट था.

उसको अब कम कर कर 5% क दिया,इसके बिना आपके पास इलेक्ट्रिक व्हीकल लेने के लिए पैसा नहीं, तो आप vehicle loan  ले सकते हो और लोन पर Interest Rate काफी हद तक उसको भी काम किया क्या है.


Bijli se chalane wale vehicle आने से बहुत सारे और रोजगार पैदा होगे,तो ऐसे में अगर आप  Ebike motor repair करने का काम सीखते हो,जो कि पहले पिछले पार्टिकल में आपको विस्तार पूर्वक बताया गया है.

तो आने वाले समय में फायदे में रहोगे,कुल मिलाकर कहने की बात है कि इसी तरह के छोटे-मोटे Business आएंगे.

इनको आप अपने घर पर जाकर अपने Gaon में शहर में शुरू कर सकते हो,तो कैसे ही एक और इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल से जुड़ा बिजनेस चालू कर सकते हो,इसके लिए क्यां करना होगा आगे इसके बारे में विस्तारपूर्वक समझाया जाएगा.

इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन भारत में खर्च | How to open an electric car charging station in India


1.व्यवसाय का नाम

भारत में इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन खोलना.

 



2.ईवी का फुल फॉर्म क्या है ?

यहां पर सबसे पहिले आपके लिए यह जनाना जरूरी है,की ईवी का फुल फॉर्म क्या है ? क्योंकि बहुत से ऐसे लोग है.जिनको इसके बारे में अभी तक ठीक तरीके से नहीं पता,उन लोगों की जानकारी के लिए बता दे की इसका फुल फॉर्म Electric vehicle है, इसके बिना फिर इसको ईलक्टेंन वोल्ट भी कहां जा सकता है.



 

3.इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन किसे कहते है ?

किसी भी काम को Start करने के लिए सबसे पहिले उस काम के बारे में जनना जरूरी है,जिस Business को हम शुरू करने जा रहे है.

तो यहां पर बात कर रहे है,की इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन क्यां है? यां फिर इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन किसे कहां जाता है?.

अगर,आपको इनके बारे में नहीं पता,तो यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की यह ठीक उसी तरहां का एक Station होगा,जैसे की एक Petrol pump पंप है.यहां पर आपकी Electric bike चार्च होगी उसे इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग केंद्र कहा जाऐगा.






 4.ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन लगाने की सहीं जगा


अगर कोई काम बिना योेजना से करते हो,तो मुशिकलों का समना करना पढ़ सकता है,लेकिन काम अगर योजना बनाकर करते हो तो कामयाबी मिले.


तो बात चल रही है,की Electric vehicle charging station कहां पर खोले ? इसके लिए भी आपको एक रूप रोखा तैयार करनी पडेगी.

आपके पास एक List हो यहां — यहां पर ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन लगाने है,ऐसे में आपको इन पर आने वाला खर्च का भी पता चलेगा.

तो यहां नीचे आप लोगों के लिए एक लिस्ट दी जा रही है,यहां पर आप इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग केंद्र लगा सकते हो. 


1.बस स्टेशन पर.
2.रेलवे स्टेशन के बाहर.
3.स्कूलों के पास.
4.कॉलजों के पास.
5.बैंकों के नजदीक.
6.डाकघरों के नीजदीक.
7.पार्क के पास.
8.सरकारी बैंकों के पास.
9.Mini secretariat patiala के पास.
10.Mini secretariat के नजदीक.
11. पाइ्र्रवेट दफतरों के पास.
12 .सिनेमों घरें के पास.
13.चुराहें पर.
14.​गलीयों में.
15.खेलने वाले मैदान में.
16.गांव में.


तो यहां — यहां चार्जिंग स्टेशन खोल सकते हो.




5.EV charging guidelines | ईवी चार्जिंग दिशानिर्देश

ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन खोलने को लेकर भारत सरकार की तरफ से भी Guide lines जारी की गई है.यांनी की 3 किलोमीटर की दूरी पर चार्जिंग स्टेशन होना चहिऐ.




 


6.इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन कॉस्ट इन इंडिया | electric vehicle charging station cost


अब बात आती है,कि इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन को खोलने के लिए हमारे पास इतना पैसा होना चाहिए ? या फिर दूसरी तरफ कह लो कि इस पर जो कुल लागत है,कितनी आती है ?

जहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें,कि Electric charging station का बिजनेस दो तरीकों से प्रारंभ कर सकते हो एक तरीका यह रहेगा.

खुद का Charging station खोल सकते हो,दूसरे नंबर पर कंपनी की इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन फ्रेंचाइजी लेकर भी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग केंद्र की स्थापना कर सकते हो और दोनों पर आने वाला जो खर्चा अलग -अलग है. 

अगर कंपनी की फ्रेंचाइजी लेना चाहते हो,तो कंपनी से बात करें और इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन कॉस्ट टाइम टू टाइम कम और ज्यादा भी हो सकती है.

दूसरी और बात kare अगर खुद का इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशन चालू करना हो,तो इस पर जो खर्चा है वह काफी ज्यादा आएगा,क्योंकि हर चीज खुद से Ready करनी पड सकती है.

एक इलेक्ट्रॉनिक कनेक्शन लेना पड़ेगा जिसको Powar Connection कहते hain,आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके लिए Ministry of power department india से तालमेल कर सकते वो आपको पूरी रिपोट बनाकर बता देेगे.






7.कुछ जरूरी बातें


ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन खोलने से पहिले अगर आप खुद का वाहन चार्जिंग स्टेशन खोल रहे हो,तो इन बातों का ध्यान रखना पडेगा जिनके बारे में नीचे बडे विस्तार रूप से बताया गया है.

1.गाडी खडी होने के लिए जगा का होना जरूरी है.

2.कई बार क्यां होता है की गाडी की बैटरी फूल चार्च होने पर Autocut नहीं होती और चार्च होती रहती है जिसकी बजा से बैटरी फट भी सकती है.

तो,इसके लिए स्टेश्न पर पानी की टैंकी यां फिर छोटी Fire brigade का होना जरूरी है,पुलिस स्टेशन का नंबर लिखा होना जरूरी है.

3.चार्जिंग स्टेशन पर नजदीक के पुलिस स्टेशन का नंबर लिखा होना चहिए
4.इसके​ बिना अस्पताल यां फिर एम्बुलेंस नंबर लिखा होना चहिऐ.
5.चार्जिंग स्टेशन पर बडी लाईट का इंतजाम होना चहिऐ.





8.लेबर यां फिर स्टाफ

यह Depend करता है,की Station कितना बडा है.अगर कवेल बाईक के लिए है तो उसमें आप एक यां फिर दो आदमी रख सकते हो अगर गाडीयों भी साथ में चाचिग कर रहे हो तो दो - तीन आदमीयों की जरूरत पडेगी. 






9.इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग केंद्र खोलने का टाईम टेबल

वैसे,तो प्रटैल पंप की तरहां इसको 24 घंटे के लिए खोल सकते हो,लेकिन फिर भी अगर ऐसा नहीं करना चाहते यां फिर गांव में चार्जिग स्टेशन खोल रहे हो.तो यहा पर इसका सुबह का और शांम का खुलने का समय तय कर सकते हो.

जैसे की:- सुबह 7 बजे से लेकर शांम के 9 बजे तक आदि.
सभी रविवार और औतवार खुला रहेगा.






10.इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन फ्रेंचाइजी | Electric charging station franchise

यहां नीचे इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन की फेइचाची देने वाली कंपनीयों की एक लिस्ट दी जा रही है, जिसके अधार पर किसी की भी फेइचाची ले सकते हो.

1.टाटा पावर. 
2.डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स. 
3.पैनासोनिक. 

यह इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज स्टेशन की फेइचाची देने वाली टॉप लेवल की कंपनीयां है,लेकिन अभी आगे और कंपनीयां भी आऐगी,जिन से स्टेशेन की फेइचाची ले सकते हो.







11.ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के लिए अप्लाई कैसे करें | how to apply for electric vehicle charging station in india 


अब बात आती है,की ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के लिए अप्लाई कैसे करें ? जो की हर एक वो इंसान जो इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन खोलना चाहता है यां फिर इसका बिज़नेस स्टार्ट करना चाहता है के दिमाग में बार — बार घूमती होगी. 


यहां पर उन लोागें की जानकारी के लिए बता दे,की आप दो तरीकों से Electric charging station ke liye apply कर सकते हो.

पहिली बात की किसी भी Company की अगर फ्रेइाइची लेना चाहते हो,तो आपको उस कंपनी से तालमेल करना पडेगा.

मिसाल के तैर पर आप Panasonic की ev charging station franchise लेना चाहते हो,तो आपको इनके दफतर जाना पडेगा और वहां पर इनके कर्मचारीयों से इसके बारे में बात कीजिऐ,जिसमें आपको पुरी प्रकियां के बारे में बताया जाऐगा.

अब दूसरे नंबर पर अगर किसी कंपनी की फ्रेइाइची नहीं लेना चाहते हो,अपना खुद का ई-व्हीकल चार्जिंग स्टेशन खोलना चाहते हो तो

इसके लिए Ministry of power department विभाग से तालमेल कर सकते हां और वहां से इसके बारे में पुरी जानकारी हासिल हो जाऐगी.





12.कितनी होगी कमाई

बात कमाई की करें,तो यहां पर एक बात तो साफ है की आने वाले समय में जिसने भी ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन लगाया होगा,वो अच्छी कमाई करेंगे.

बात करें,अभी की तो अभी इसकी शरूवात हो रही है,लेकिन अभी दिल्ली । मुंबाई आदि शहरों में चार्जिग स्टेशन लगने शुरू हो गए है.कुल मिलाकर कहने की बात है अगर आप अभी से शुरूवात करते हो तो अच्छे रहेगें खाटे में नहीं फयदे में रहेंगे.





12.इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन का भविष्य

बात करें,इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन का भविष्य की तो आने वाला समय इसी का होगा,क्यांकि यह आप अच्छी तरहां से जानते हो की तेल एक दिन खत्म हो जाना है और तेल वाली बाईक की जगा बिजली से चलने वाली गाडीयां दोैडगी और जो ​लोग इसका बिज़नेस करेंगे वो कामयाब रहेगे.




FAQ 

1.Question :- ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन खोलने के लिए लाईसस की जरूरत है?

Answer:- यहां पर बता दे की इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग केंद्र खोलने के लिए फिलहाल कोई मनुजरी की जरूरत नहीं है लेकिन आने वाले समय में शहिद कोई ऐसा कानून पास हो जाऐ.



2.Question :- ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन को गांव में खोल सकते है ?

Answer:-  जी हां आप इसको गांव में भी लगा सकते हो.


------------------------  


2500 रूपए में लगावऐ वाहन चार्जिंग स्टेशन | How to apply for electric vehicle charging stations in delhi

2500 रूपए में लगावऐ वाहन चार्जिंग स्टेशन | How to apply for electric vehicle charging stations in delhi

हांलिकी तेल की कीमतों में थोडी गिरवाट आई है,लेकिन यह नां के बारबार है,इस लिए लोग अब इलेक्ट्रिक vehicles की तरफ ज्यादा रूची ले रहे है, आखिर ले भी क्यों ना तेल वाली बाईक से सस्ती जो पडती है.

दुसरी तरफ सरकार की भी यहीं कोशिश है वो जल्द से जल्द इलेक्ट्रिक vehicles को भारत की सड़कों पर दुढना चाहती है.





इसके बिना इलेक्ट्रिक बाइक आने से बहुत सारे नए रोजगार के मौके पैदा होगा,छोटे और बडे ऐसे में उन लोगों के लिए अच्छा मौका है.जो की Electric vehicle से जुडा कोई छोटा — मोटा बिज़नेस शुरू करने वाले है.

अब आगे बात करें,यदी आप Delhi से हो तो Delhi सरकार की तरफ से हाल हीं इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन लगवाने पर सब्सिडी देने की बात कहीं है.


और यदि कोई आम दिल्ली में रहता नागरिक Ev charger station को लगवना का मन बना रहा है,तो उसको क्यां — क्यां करना पडेगा आदि सभी की जानकारी नीचे आपकी ​भाषा हिन्दी में दे गई है.



-------------------------------------

2500 रूपए में लगावऐ वाहन चार्जिंग स्टेशन | How to apply for electric vehicle charging stations in delhi


1.इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन किसे कहते है ?


अगर आपको इनके बारे में नहीं पता,तो यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की यह ठीक उसी तरहां का एक Station होगा,जैसे की एक Petrol pump पंप है,यहां पर Electric bike चार्च होगी उसे Electric vehicle charging station कहां जाऐगा.





2.ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन कहां — कहां खुलेगे ?  

यहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दे की ईवी इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन दिल्ली सरकार कुछ इन जगा पर खुलवाने जा रही है,जिनके लिए आप अवेदन कर सकते हो।

1 घरों के आसपास यां फिर कलोनीयों में.
2 दुकानों के पास — जैसे की परचून की दुकान । मोबईल ​रिपेयर की दुकान । आदि.
3 छोटे और बडे मॉल.
4 सरकारी स्कूल पाईवेट स्कूल.
5 कॉलेज के पास.

आदि जगा पर इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन को खोल सकते हो.




3.कितनी ले सकते हो subcity ? 

इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन पर दिल्ली सरकार आपको 6000 हज़ार तक की सब्सिडी देनी है और यह सब्सिडी पहले लगने वाले 30,000 हज़ार वाहन चार्जिंग स्टेशन पर मिलेगी.





4.इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन अप्लाई करने के लिए दस्तावेज

अगर आप आवदेन करने के राजी हो,तो आपको इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन अप्लाई करने के लिए इन दस्तावेज की जरूरत रहेगी.

एक आपके पास आईडी पूफ जैसे की अधार कार्ड । वेटर कार्ड । पेनकार्ड यां फिर बिजली का बिल,इसके बिना आपके पास फोन नंबर होना चहिऐ,वो चाहे किसी भी कंपनी का हो,जरूरी सूचना — यहं दस्तावेज कभी भी बदले जा सकते है.




5.ऐसे करें इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के लिए अप्लाई

तो,अगर आप इसके लिए अप्लाई करना चहते है,तो दिल्ली सरकार की तरफ से एक नंबर 19123 जारी किया गया है.यहां पर कॉल करके इसके लिए आवदेन कर सकते हो और इसके बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हो.




6.वेबसाईट लिंक


ज्यादा जानकारी के लिए इस वेबपेज पर जाऐ और इसके जरिए भी आप अप्लाई कर सकते हो.



7.बिजली बिल कितना आ सकता है?

इसके लिए सरकार दुबारा एक प्रति जुनिट का रेट 4.50 रूपए तय किया है,मिसाल के तैर पर देखा जाऐ दिन में आपने जो भी बिजली वाले वाहन चार्च किऐ और इसके लिए 200 युनिट निकली तो आपका बिल बना 900 रूपऐ.

200x4.50 - 900.



अंत में 

तो कुछ इस तरहां से इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का बिज़नेस शुरू कर सकते हो,जो की कमाई का एक अच्छा जरिए बन सकता है.


------------------------  









 


गांव में चलने वाला बिजनेस आइडिया | राजमिस्त्री कैसे बने | एक दिन कमाई होगी 700 रूपए

गांव में चलने वाला बिजनेस आइडिया | राजमिस्त्री कैसे बने | एक दिन कमाई होगी 700 रूपए

रहेगी दुनियां जब तक चलेगा तब तक यह गांव में चलने वाला बिजनेस आइडिया  | राजमिस्त्री कैसे बने.


दुनिया में दो तरह के Business किए जाते हैं,एक वह बिज़नस जो की Life time तक चलता है,साफ-साफ कहने का मतलब रहेगी.

कि जब तक Duniya रहेगी तब तक वो काम आपको पैसे कमा कर देता रहेगा और ऐसे काम करने के लाभ भी बहुत हैं,अब मान लीजिए कि आप 50-60 साल के बाद आप में इतनी शक्ति नहीं रहती.





Raj mistri kaise bane | Raj mistri ka kam kaise sikhe | business ideas in hindi 2022 india
vishvtrading.com


आप बूढ़े हो जाते,काम कर नहीं पाते तो आप जो काम कर रहे हो,बाद में वह काम आपके जो पुत्र हैं,आपके जो औलाद है उनको सोप सकते हो.

ऐसे जब वह बूढ़े हो जाएंगे,तो वह आगे उनकी जो औलाद होगी वह उन को सौंप देंगे तो ऐसे स्टेप बाई स्टेप बिजनेस चलते रहते हैं.


जिसको हम बोल देते हैं,कि यह लाइफ टाइम तक चलने वाला बिज़नेस है जो कभी रुकेगा,नहीं जब तक इंसान इस धरती तक पर मौजूद है.

तब तक यह काम चलता रहेगा,इसमें कभी गिरावट नहीं आएगी,आगे बात करें उस व्यापार की जो कुछ समय के लिए होता है.

इसे Season business  होते हैं,तो ऐसे में बहुत सारे लोग हैं जो सीजनल बिजनेस भी करते हैं जो कि कुछ समय के लिए होता है,हम सीजनल बिजनेस की बात करें.


अभी आगे सर्दियों आने वाली है और जो सर्दी से जुडे बिजनेस किए जाते हैं,उनको ध्यान में रखते हुए जैसे कि मान लीजिए आप लस्सी का बिजनेस शुरू कर रहे हो.


कहने का मतलब है,गर्मियों में लस्सी की दुकान लगा रहे हो,कॉलेज के आगे बात समझने वाली है ध्यान से सुनना तो गर्मीयों के समय आप का सेल अच्छी हुई और अपने अच्छे पैसे कमाऐ.


-------------------------------------

------------------------------------


अब आगे सर्दीयों का मौसम आ रहा है,तो अगर आप सर्दीयों में भी वहां कॉलेज के आगे लस्सी की दुकान लगाते हो,तो लस्सी सेल नहीं होगी.


अगर,उसी जगा पर मुंगफली की दुकान लगाते हो तो दुकान अच्छी चलेगी,तो यह एक तरहां का सीजनल बिज़नेस हो गया.


तो यहां पर आपको एक ऐसा जीवन काल तक चलने वाले व्यवसाय के बारे में जानकारी देने जा रहे है जिसमें कमाई भी अच्छी है और चलेगा भी उर्म भर तक.
 

गांव में चलने वाला बिजनेस | राजमिस्त्री कैसे बने


1.काम का नाम

राजमिस्त्री का काम.



2.राजमिस्त्री के बारे में जानकारी ? 

उपर आपको काम के बारे में पता चल गया होगा,अब आगे बात करते है की राजमिस्त्री किसे कहते हैं? बहुत ही सरल सवाल है.

इसके बारे में गली का हर बच्चा जनता है और हर किसी को Rajmistri से काम पडता है,मकान बनाने वाले को राजमिस्त्री बोला जाता है,इसके बिना इसको घर बनाने वाला मिस्त्री भी कहा जाता है.






3.राजमिस्तरी का क्यां काम होता है ?

वैसे,तो हर कोई जानता है कि एक राजमिस्त्री का क्या काम होता है और कौन-कौन से काम करता है,लेकिन फिर भी आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजमिस्त्री यह काम करता है.

1.मकान बनाना..
2.होटल बनाना.
3.स्कूल बनाना.
4.कॉलेज
5.शोरूम.
6.कारखाना बनाना.
7.खेल के मेैदान बनाना.

आदि कार्य करता है.






3.राजमिस्त्री प्रशिक्षण कार्यक्रम | Raj mistri ka kam kaise sikhe


अब असल बात की राजमिस्त्री प्रशिक्षण कैसे ले,यहां पर राजमिस्त्री के बारे में जानकारी देते बता रहे है की राजमिस्त्री का काम सीखना कोई मुशिकल काम नहीं है.

इसको आप 40 साल की उर्म तक किसी भी समय सीख सकते हो,राजमिस्त्री का काम सीखने के लिए किसी स्कूल में Training नहीं दी जाती.

इसका काम सीखने के लिए आप पहले से काम कर रहे,राजमिस्त्री के पास जा सकते हो जो आपको यह काम सीखा सकते है.

इसमें यदी आप गांव में { Gaon mein } रहते हो यां फिर शहर में रह रहे हो तो अपने आस— पास के जो मशूहर घर बनाने वाला मिस्त्री है,उनकी तलाश करें और इस काम की इन लोगों से अच्छे तरीके से सिखलाई ले.


-------------------------------------

------------------------------------



4.राजमिस्त्री प्रशिक्षण का समय कितना है.?


बात करें,राजमिस्त्री के प्रशिक्षण की इसमें कितना समय लगेगा,आप पर है राजमिस्त्री का काम जितना असान है,उतना ही थोड़ा मुश्किल क्योंकि { because } इसमें आपको बरीकी से समझना पड़ेगा.

तो,ऐसे में जो लोग जा रूची रखते है,कि हम घर बनाने का काम सीखे हम खुद के राजमिस्त्री बने,वह लोग दो-तीन सालों में राजमिस्त्री बन जाते हैं.

ऐसे में वो लोग जो थोड़ा कम ध्यान देगे,उनको ज्यादा  Time  भी लग सकता है,तो बात कर रहे हैं कि राजमिस्त्री का काम सीखने के लिए कितना time लगेगा ? जहां पर आपको मोटा - माटी बता दें कि 3/4 सालों में एक बढ़ियां राजमिस्त्री बन सकते हो.





 5.राजमिस्त्री का सर्टिफिटेक 

आगे बात करते है,Rajmistri certificate की तो अगर आप खुद के काम की जगा से राजमिस्त्री की नौकरी करना चाहते हो,तो वहां पर आपको राजमिस्त्री के सर्टिफिटेक की जरूरत रहेगी,क्यांेकि कंपनी में Job सर्टिफिटेक के अधार पर हीं देगी,जिसमें आपके experience के बारे में लिखा होगा. 






6.पढ़ाई

पुराने समय की बात करें,तो ऐसे -ऐसे भी राजमिस्त्री थे जो बिल्कुल अनपढ़ थे और वह उच्च कोटि के राजमिस्त्री कहलाते थे हलांकि की वह बिल्कुल ही अनपढ़ थे.

उन्होंने कभी स्कूल { School } का मुंह नहीं देखा होगा बात करें,अब के टाइम की तो अगर ज्यादा नहीं तो प्लस टू {10+2}  पास दसवीं पास के लिए यह काम बढ़िया रहेगा.

क्योंकि,इस काम में study की जरूरत तो है,आपको हिसाब किताब निकाल कर देना पड़ता है,सामने वाले को जैसे एक मकान { House } पर कितना खर्च { Expenses } आएगा.

एक मकान में कितनी ईट लगेगी,एक मकान में कितना सीमेंट { cement } लगेगा,तो ऐसे आपको टोटल खर्चा निकाल कर देना पड़ता है,तो पढ़ाई का होना जरूरी है.





7.राजमिस्त्री के औजार |  मेसन टूल

राजमिस्तरी को इन टूल्स की जरूरत होती है जिसकी लिस्ट नीचे दी गई है.

करनी | कढ़ाई | हाथौडा | श्ब्ब्ल | छेनी | छालनी | लोहो की आरी | गरमाला | रूसा | सूत |  साहल |पाईप |  जछताने.  





8.Mason tools कहा से परचेस करे 

अब बात आती है,की हमें karni mason tools कहां से मिलेगी यहां पर Mason tools लेने की आपके पास दो तरीके है.जिनकों आप के साथ बडे विस्तार रूप से बताया जाऐगा.

देखिऐ,पहिला तरीका आप अपने आस पास के ईलेके से इन टूल्स को Purchase कर सकते हो,जैसे की किसी शहर से । गांव में खूली दूकान से 

दूसरा तरीका है आनलाईन का अगर आपको आनलाईन टूस्ल Purchase करने आते है.तो आप ऐमाजॉन से इनको बडी असानी के साथ खरीद सकते हो,यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की रेट आफलाईन और आनलाईन दोनों में अंतर देखने को मिलेगा.



 

9.Mason tools पुराने भी खरीदे

अब जहां पर एक और बात कि अगर आपके पास Mason Tools लेने के लिए पैसे नहीं,तो आप पुराने Toosl भी Purchase कर सकते हो.

क्योंकि,कई बार क्या होता है,जब हम नया - नया काम स्टार्ट करते है,हमारे पास इतना पैसा नहीं होता कि  हाई रेट के औजार purchase कर सकते.

तो ऐसे में एक काम कीजिए जो भी आसपास के इलाकों में राजमिस्त्री का काम छोड़ चुके हैं उनसे  पुराने आधे रेट पर ले सकते हो,क्यों​कि पुराने राजमिस्त्री उपकरण से भी काम चल सकता है,जरूरी नहीं की नऐ राजमिस्त्री उपकरण को लेकर हीं काम को चालू किया जाऐ.





10. Mason tools price | मेसन टूल

बात करें,राजमिस्त्री के टूल्स के प्राइस के बारे में जहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें,कि अगर आप ऑनलाइन और ऑफलाइन टूल्स को Purchase करते हो.

तो दोनों में डिफरेंस देखने को मिलेगा,दूसरे नंबर पर इस टूल्स के जो प्राइस है वह समय-समय पर Low high होते रहते है.ऐसे में अगर आप उसी टाइम प्राइस देखें थोड़ा ऊपर नीचे करके भी आप परचेज कर सकते हो वो बेहतर होगा.





अंत में

कुछ इस तरह से आप राजमिस्त्री का काम को शुरू कर सकते हो अगर गांव में सबसे ज्यादा चलने वाला बिजनेस ढूंढ रहे थे. 

जो सबसे ज्यादा कमाई वाला भी हो और उसको Suru करने के लिए हमारा पैसा ज्यादा खर्च ना हो,तो एक राजमिस्त्री का काम सबसे बढ़िया रहेगा.इसमें आपका खर्चा भी कम है और कमाई सरकारी नौकरी करने वाले से कहीं ज्यादा होगी. 

सोचिए मत,abhi से राजमिस्त्री की ट्रेनिंग लेनी शुरू कर दीजिए,ज्यादा पढ़ाई की भी जरूरत नहीं,बस आपका तजरबा बढ़ियां होना चहिऐ.

जब दुनिया रहेगी,तब तक मकान बनते रहेंगे और राजमिस्त्री का काम चलता रहे और आप नोट कम आते रहोगे.



FAQ 

1.Question :- राजमिस्त्री बनने के लिए क्या करना होगा ?

Answer:-  राजमिस्त्री बनने के लिए आपको सबसे पहिले काम सीखना पडेगा,इसके लिए आपको कम से कम अगर ज्यादा नहीं तो 5 साल तक काम सीखना पडेगा.

बाकी आप पर रहेगा की आप काम को दिल से सीखते हो यां फिर काम सीखना का दिखावा कर रहे हो,क्योंकि अक्सर देखा गया जो लोग दिल से किसी चीज को सीखते है वो काम को जल्दी सीख जाते है. 


------------------------  


Mason tools name | राजमिस्त्री के औजार | mason tools name with picture in hindi

Mason tools name | राजमिस्त्री के औजार | mason tools name with picture in hindi

 राजम़िस्तरी अपने औजार के बिना राजमिस्तरी नहीं कहलाऐगा यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की राजमिस्तरी का मुख्य टूल करनी है.


इसके बिना राजमिस्तरी { Mason } आपने काम को चालू हीं नहीं कर सकेंगा और एक राज मिस्तरी को किन — किन औजारों की जरूरत रहेगी,उसकी एक लिस्ट नीचे दी गई है.



masonic working tools | mason tools list with pictures | karni mason tools
vishvtrading.com

------------------------------------ 
------------------------------------ 

Mason tools name | राजमिस्त्री के औजार | mason tools name with picture in hindi


1 करनी :— करनी से यह लोग ​कई प्रकार के काम करते है,जैसे की ईट को तोडना । पलस्तर करना । रेत और सीमिेन्ट को बनाया । छोटी — मोटी चीज को तोडना आदि. 

2.कढ़ाई :— इसका उपयोग मसाले को रखने के लिए किया जाता है और इसको तगारी भी कहा जाता है यह बहुत हीं कम बजन की होती है.


3.हाथौडा :— इसका उपयोग ईट को तोडने और कील को ठोकने के लिए किया जाता,लेकिन कील ठोकने के लिए हल्का काम करने के लिए हौ​थोडी हीं काम आती है. 


जरूरी सुचना— हाथौडा दो तरहां के होते है एक हल्का और भारी 


------------------------------------ 


------------------------------------ 


4.श्ब्ब्ल :— यह भी राजमिस्त्री के बाकी टूल्स की तरहां सबसे अहम टूल होता है,इस टूल से राजमिस्त्री कई तरहां के काम लेते है,जैसे की किसी भारी चुगाट को उठाने के लिए इसे लीवर की तरहां उपयोग करते है.

इसके बिना यदि दीवार को तोडना हो यां फिर कोई और भारी चीज उठानी हो तो भी इसका उपयोग किया जाता है.


बात करें,यह किसी चीज का बना होता है,तो यह लोहे का बना होता है यह ना ज्यादा लंबा और ना ज्यादा छोटा होता है और बजन में हल्का सा होता है.


5.छेनी :— इसी तरहां का एक और Tools जिसको छेनी कहां जाता है और यह ईट को तोडने यां फिर ईट को तरासने के लिए use में लाई जाती है.


6.छालनी :— रेत और सीमिट को छानने के लिए छालनी का use किया जाता ऐ.

7.लोहो की आरी :— किसी चीज को काटने के लिए आरी का use किया जाता है.

8.गरमाला : — सीमिट को एक रूप देने के लिए गरमाले का उपयोग किया जाता है यह लकडी का बना होता है और यह बहुत हीं हल्के किस्म का होता है.

9.रूसा :— भारी चीज को उठाने के लिए रूसे का उपयोग किया जाता है.

10.सूत :— चनाई एक हीं लाईन यांनी की सीधी रहे इसके लिए सूत का यूज़ होता है.

11.साहल :— यह दीवार की सीधाई को नापने के लिए सूत के साथ बाध दी जाती है नीचे की तरफ.

12.पाईप :— चनाई को शुरू करने से पहिले लौवल किया जाता है इसके लिए एक पाईप का यूज़ होता है इसमें पानी डाल कर इसका लौवल किया जाता है.


13.जछताने :— हाथों को सीमिट से बचाने के लिए जछतानो का यूज़ किया जाता है.

14.पानी वाले डरम :— पानी को इक्ठां करने के लिए बडे ठरमों की जरूरत रहेगी.

15.गुनियां : इसको उपयोग दीवार को नापने के लिए किया जाता है.

16.कहीं : कहीं के बिना राजमिस्तरी के सभी कार्य अधूरे है इसका उपयोग नीव में खोदने के लिए किया जाता है.

17.फीता :— इसका उपयोग दीवार को नापने के लिए किया जाता है.



तो यह mason tools name थे,जिनकी एक राजमिस्त्ररी को हमोशा जरूरत रहती है,अगर आप राजमिस्तरी का काम शुरू करने जा रहे है,तो इन टूल्स को पहिले खरीदे तां की बाद में आपको किसी किस्म की कोई परेशानी ना आऐ.

----------------------------------




FAQ 

1.Question :- शब्ब्ल किस धातू की बनी होती है ?

Answer:- राजम़िस्तरी के काम में इसका ​अहिम योगदान होता है और यह लोहे की बनी होती है. 


 
2.Question :-शब्ब्ल की लबाई कितनी होती है ?

Answer:-  शब्ब्ल की लबाई 4 यां 5 फूट होती है. 


 
3.Question :-शब्ब्ल का बजन कितना होता है ?

Answer:-   इसका बजन सरीए की मिटाई पर निर्भर करता है।



------------------------  



करेंगा माला—माल पैसों से यह काम फ्यूचर में आपको | how to open electric bike repair workshop |  बाइक रिपेयरिंग करना सीखे

करेंगा माला—माल पैसों से यह काम फ्यूचर में आपको | how to open electric bike repair workshop | बाइक रिपेयरिंग करना सीखे

ज से हजारों साल पहले किसी ने नहीं सोचा होगा ........कि एक दिन इंसान गाड़ी में बैठ कर सफर को तय करेगा,हजारों साल पहले की बात करें.

तो लोग एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए पैदल यात्रा करते थे ........ पैदल यात्रा काफी हद तक हमारे शरीर {Body } के लिए अच्छी मानी जाती है.

काफी बीमारीयों  से मुक्त होता होगा तब का इंसान  ........ जब लोग पैदल चला करते थे, अपने रिश्तेदारों के यहां जाने के लिए धार्मिक स्थानों पर जाने के लिए.



फिर धीरे-धीरे साईकिल { Cycle } का निर्माण हुआ जिसको लोग एक जगह से दूसरी जगह तक जाने के लिए उपयोग { use } करते थे



business ideas in hindi | बाइक रिपेयरिंग करना सीखे | गांव में कौन सा बिजनेस शुरू करें
vishvtrading.com


-------------------------------------



------------------------------------


पेट्रोल से चलने वाली गाड़ी की कीमत ज्यादा थी,जिसकी वजह से एक आम इंसान की पहुंच से दूर थी,उसके बाद हर किसी के लिए petrol se chalne wali gadi लेनी असान हो गई और आज के Time में देखा जाए तो कोई घर आपको ऐसा नहीं मिलेगा.


दूसरी तरफ दिन प्रतिदिन वातावरण प्रदूषित होता जा रहा है और अब की तिथि की बात करें तो भारत में काफी हद तक इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां आ चुकी है.


विदेशों { foreign country } की बात करें...तो वहां पर इलेक्ट्रॉनिक गाड़ी  यांनी की बिजली से चलने वाली कार सड़क पर दौड़ने लगी है.


-------------------------------------

-------------------------------------


हालांकि इलेक्ट्रिक कार प्राइस काफी हद तक ज्यादा है,जो की एक आम गरीब आदमी की पहुंच से बाहर है तीन-चार सालों तक इलेक्ट्रिक गाड़ियां आपको हर किसी के house में देखने को मिलेगी.


इसके अलावा बात करें ........बिजली से चलने वाली स्कूटी की तो वह भी भारत में लॉन्च हो चुकी है,इलेक्ट्रिक बाइक की कीमत अभी थोड़ी ज्यादा है......लेकिन कुछ कंपनियां ऐसी हैं जिन्होंने सस्ती भी निकाली है,लेकिन धीरे-धीरे सभी के पास देखने को मिलेगी. 


गांव की { gaon ki baat} बात करें ........इसके बिना अगर बात करें शहरों की तो हर किसी के घर mein एक पेट्रोल से चलने वाली गाड़ी तो पक्की है.

जो ज्यादा पैसे वाले हैं,उनके यहां पर 3 से लेकर 4 गाड़ियां खडी मिलेगी,एक गाडी से भी काम चलाया जा सकता है.


-------------------------------------

-------------------------------------

खैर यह एक अलग Topic है......... इस पर बात नहीं करना चाहते,आज के इस लेख में आपको एक और नए और कम पैसों के साथ चालू किऐ जाने वाले और गांव में कौन सा बिजनेस करें ? उसके बारे में बताने जा रहे है.



​इस काम को सीख कर आप अपने वाले 10 यां 15 साल के बाद गांव में बैठे — बैठे लाखपति बन सकते हो,
तो बने रहे इस लेख के साथ .... .. तां की आपको इस कार्य के बारे में पता चल सकें जिसकी आने वाले समय { Time }  में हद से ज्यादा डिमांड रहेगी.


गांव में चलने वाला उद्योग || इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान कैसे खोले ? | how to open a motorcycle repair shop in india


1.काम का नाम | बाइक रिपेयरिंग करना सीखे

इस कार्य का नाम बिजली से चलने वाली बाइक रिपेयर की शॉप खोलनाelectric bike repair workshop.



  

2.बाइक repair मैकेनिक कैसे बने.

Electric bike repair वर्कशॉप को शुरू करने से पहिले आपको इसका कोर्स करना पडेगा जो की भारत में रहते हुऐ असानी से कर सकते हो.

       इसके बिना अगर electronic diploma course | डिप्लोमा नहीं करना चाहते .... आपके पास  कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए पैसे नहीं.

तो जहां पर आप एक काम कर सकते हो  .... इसके लिए थोड़ा सा रिसर्च करना पड़ेगा जिसको भी इलेक्ट्रोनिक Bike Repair करनी आती है.

      उन वर्कशॉप { Workshop } की तलाश करनी पड़ेगी ........ जहां पर इलेक्ट्रॉनिक बाइक रिपेयर करने ka kaam सीख सकते हो.

तो आपके पास दो रास्ते हैं .... इलेक्ट्रॉनिक बाइक रिपेयर का काम सीखने के लिए एक है डिप्लोमा और दूसरा है...... किसी ऐसे मिस्त्री की तलाश करें जो इलेक्ट्रॉनिक कार बाइक की वर्कशॉप खोली बैठा hain.  




3.बाइक रिपेयरिंग वर्कशॉप की योजना बनाना | bike repair shop business plan


आपने काम सीखा और अब चाहते हो मैं गांव में शहर में कस्बे में जहां कहीं भी रहता हूं इलेक्ट्रिक बाइक रिपेयर वर्कशॉप खोलो तो आप अपनी वर्कशॉप जिसको हम शॉप बोल देते हैं दुकान बोल देते हैं

बिना नींव se धरती पर ही बनाना शुरु कर देते हो .......... कुछ समय के बाद { after the some time दूकान गिर जाती ऐ.

क्योंकि उसकी नींव नहीं रखी जैसे बिल्डिंग बिना नींव के नहीं रह सकती......... उसी तरह आप का चाहे कोई बड़ा बिजनेस हो........चाहे आपकी वर्कशॉप हो 


बात कर रहे हैं ......... कि इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान कैसे खोले ? तो इसके लिए आपको सबसे पहले एक रूप रेखा तैयार करनी पडेगी ..... रूप रेखा बनाने के लिए कॉपी | लैपटॉप | मोबाइल का उपयोग कर सकते हो.

         आप एक रूप रेखा एक ढाचा बना ले.....जहां नीचे आपको एक डिटेल दी जा रही ऐ..इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान खोलना के लिए इतना पैसा चहिऐ. 

1 ईट. 
2 पंखा.
3 टेबल.
4 मेज.
5 पानी का रेबर.
6 डायरी.
7 बिजली कनेक्शन. 
8 पानी का नलका
9 बाईक ठीक करने के लिए सभी प्रकार के टूल्स.
10 फटे पूराने कपड़े.
11.मकान बनाने वाले मिस्त्री की लेबर का खर्चा.
12.दरवाजे और खिड़कियों पर आने वाला खर्च.
13.CCTV Camera.

तो ऐसे आपको पता चल जाऐगा,की हमें वर्कशॉप के निर्माण के लिए कितने पैसा चहिऐ और आप उस हिसाब से पहिले पैसा का इंतजाम { Arrangement } कर ​सकते हो.




4.इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान कहां पर खोले | electric bike repair shop near me


अब आगे बात करते हैं.......... कि इलेक्ट्रॉनिक बाइक रिपेयर की वर्कशॉप खोलने के लिए कौन सी लोकेशन {Location} सबसे बढ़िया रहेगी ताकि ग्राहक ज्यादा से ज्यादा वर्कशॉप पर आए.

यह आपका सबसे ज्यादा मुश्किल काम { Difficult work } रहेगा............क्योंकि अगर गलत जगह इलेक्ट्रॉनिक बाइक रिपेयर वर्कशॉप को लगाते हो......तो आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.


इसके लिए नीचे एक लिस्ट दी गई hain,जहां पर electric bike repair shop को Open सकते हो

1.बड़े शहर mein सरकारी दफ्तर एक ही बिल्डिंग में इक्ठा कर दिए जाते हैं इनको हम मिनी सेक्ट्रिएट भी बोल देते हैं ..... अगर electric bike repair shop खोलते हो.

तो आपके पास ज्यादा Chance workshop के बिजनेस के सक्सेस होने के और ग्राहक भी अच्छे मिलेगे...... इस तरहां की लोकेशन में इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान सबसे बढ़िया रहेगी.

2.आगे बात करें दूसरी Location की तो आप सरकारी और पाईवेट स्कूल कॉलेज के नजदीक वर्कशॉप को खोलसकते हो.

3.अगली जगा Shop के लिए आपकी जानकारी के लिए बता रहे है वो है शहर के मशहूर पार्क क्योंकि यहां पर भी लोगों की छूटी वाले दिन और हर शांम को भीड काफी ज्यादा देखी जा सकती है.

4.पाईवेट सिनेमा घरो के पास भी Bike Repair workshop खोल सकते हो यह लोकोशन भी काफी हद तक बढियां रहेगी.

5.बस स्टैंड के पास भी अगर जगा मिलती है तो वकैशाॉप को ओपन कर सकत हो.

6.होटल और ढोबें के पास क्योंकि यहां पर लोगों का अक्सर भीड़ देखी जा सकती है.

7.अपने गांव में शहर के पास.

8.इसके बाद बात करें........ इलेक्ट्रॉनिक कार रिपेयर वर्कशॉप को पेट्रोल पंप के नजदीक भी open kar सकते हो ...... क्योंकि जहां पर भी पूरे दिन लोगों का आना जाना लगा रहता.


तो यह कुछ ऐसी जगा है अगर वर्कशाॉप को ओपन करते हो तो काफी जल्दी इस काम में कामयाबी हासिल कर सकेंगें.




5.टूल्स | bike repairing tools name


अब आगे बात करते हैं.......Tools के बारे में जहां पर आपके पास टूल्स को परचेस करने के दो रास्ते हैं पहला रास्ता ऑफलाइन अपने आसपास के शहर से bike repairing tools kit को Purchase कर सकते हो.

उसके बाद ऑनलाइन { Online } भी टूल्स को खरीदा जा सकेंगा........नीचे इलेक्ट्रिक कार रिपेयर | बाइक रिपेयर वर्कशॉप में जिन जिन टूल्स की आवश्यकता होगी.

नीचे bike mechanic tool box की एक सूची दी गई ऐ,जिसके आधार पर वर्कशॉप motorcycle repairing tools को purchase कर सकते हो.


1.विभिन्न प्रकार के छोटे और बड़े प्लास.
2.हथौड़े.
3.हर प्रकार की कटर एंगल को काटने वाले.
4.ग्राइंडर. 
5.इलेक्ट्रॉनिक वेल्डिंग सेट सिंगल फेस वाला.
6.एयर कंप्रेसर.
7.टायर में हवा चेक करने वाले एयर मीटर.
8.रेंज
9.प्लास्टिक के हथौड़े.
10.पतले मुंह वाले प्लास.
11.छोटे और बड़े गाड़ी को ऊपर उठाने वाला जैक.
12.ऑयल.
13.सभी प्रकार की चाबीयां.
14.साईज नापने वाली कांपस.
15.गलीस करने वाली गन.
16.तेल वाली कूंपी.


 



6.कितने पैसे चहिऐ

अब सबसे अहम बात की इलेक्ट्रॉनिक बाइक रिपेयर वर्कशॉप को Suru karne ke लिए कितने पैसे चाहिए कितने Funds आपके पास सबसे पहले अवेलेबल होने चाहिए?.

तो यहां पर बात करें मोटा - माटी कम से कम 200000 से लेकर 300000 चाहिए क्योंकि जहां पर अगर बिल्डिंग बनाते हो तो आधा पैसा उसमें चला जाएगा.

बाकी जो बचा उसमें टूल्स वगैरा ले सकते हो तो ऐसे में आपके पास इतने पैसे होने चाहिए,लेकिन अगर नहीं है तो सरकार की तरफ से बहुत सारी योजनाएं चलाई जा रही है.

इनमें से मुद्रा योजना है जिसके तहत indian Government से loan गांव में उद्योग शुरू कर सकते हो और बाद में किशातों के रूप में लोन का पैसा चूका सकते हो.




7.हेल्पर


बांत करें हेल्पर की तों शुरू में हेल्पर की कोई आवश्यकता नीं क्योंकि electric bike repair workshop अभी शुरू हीं की ऐ ....... तो ऐसे अगर साथ् में कोई लड़का हेल्पर के लिए रखते हो.

सैलरी पर तो, कम से कम अगर ज्यादा नहीं तो महिने का 10000 हाज़र उसको देना पडेगा,एक साल की सैलरी मोटा माटी कितनी हो गई उदहारण के तै पर 

12x10000= 1,20,000 - हाज़र

इतना पैसा सैलरी में चला जाऐगा, हां जरूरत पडेगी, जब काम ज्यादा आने लगे इसके बिना अगर फिर भी शुरू में bike mechanic helper की जरूरत रहती ऐ तो घर के किसी सदस्य से जैसे आपका भाई उससे काम ले सकते हो.





8.इस्ताहरबाजी


कहते हैं,कि जितना ज्यादा दिखेगा उतना ज्यादा बिकेगा ......... वर्कशॉप को खोलने के बाद इसमें चाहे आप अपने गांव में खोल रहे हो...... अपने घर में | किसी स्कूल कॉलेज के पास bike रिपेयर वर्कशॉप खोल रहे हो.

तो आपको उसकी एडवर्टाइजमेंट जरूर करानी पड़ेगी......... अगर advertisement नहीं करते तो ग्राहक तो आएंगे आप की दुकान पर ऐसा नहीं है.

लेकिन उतने नहीं आएंगे,जितने आने चाहिए विज्ञापन करवाने के बहुत सारे तरीके है,जहां पर बात करें अखबार की जिसकी विज्ञापन सबसे ज्यादा महंगी पड़ती है.


इसके लिए आप गूगल का सहारा ले सकते हो गूगल बिजनेस मैं आपकी जो दुकान है उसका Address  डाल सकते हो फ्री में ........... आपसे कोई पैसा नहीं लिया जाएगा.

इसके बिना आगे बात करें,आप जगह-जगह पोस्टर छुपाकर लगा सकते हो, इसके बाद आप फ्री में सोशल मीडिया जैसे फेसबुक को इंस्टाग्राम व्हाट्सएप पर शेयर चैट पर.

दुकान के नाम का प्रोफाइल बनाकर फ्री में प्रचार कर सकते हो,ताकि लोगों को पता चले और आपके पास ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आए.






9.वर्क शॉप खोलने का लाभ


मोटरसाइकिल और कार रिपेयर वर्कशॉप खोलने का आपको बहुत ही ज्यादा लाभ मिलेगा,क्योंकि आने वाला जो समय है वह इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियों और इलेक्ट्रॉनिक स्कूटर मोटरसाइकिल का रहेगा.

तो ऐसे में अगर यह काम जानते हो  तो आपके लिए यह बहुत लाभदायक है,आपका दुकान काफी फेमस हो सकता है और इससे काफी ज्यादा कमाई की जा सकती ऐ.






10.गूगल पर वर्कशॉप का नाम डालाना


एक काम और करना है....... गूगल पर दुकान का पूरा एड्रेस और लोकेशन डालने है, जहां पर आपको एक उदाहरण देकर समझाया जाएगा लोग Google पर कुछ ऐसे सर्च करते हैं. 

bike repair shop near me open now 
bike repair center near me in patiala 

तो ऐसे में जिस इलाके में रहते हो उस इलाके के हिसाब से Workshop लोकेशन Google map में सेट करें और दुकान का पता पूरा डाल दें जैसे नीचे फॉर्मेट दिया hain.

1.वर्कशॉप का नाम. 
2.इलाके का एड्रेस. 
3.अपना मोबाइल नंबर. 
4.Email id 
5.दुकान के खुलने और बंद होने का समय. 
6. व्हाट्सएप नंबर 

इस तरह सिंपल तरीके से गूगल के थ्रू motorcycle repair workshop का प्रचार कर सकते हो,अगर कोई motorcycle repair करवाना चाहेगा तो कॉल आ सकती है.





11.कुछ जरूरी टूल्स |important tools


Scooter repair करने के लिए जिन Tools की जरूरत पड़ती hain वह तो आपके पास होने ही चाहिए इसके अलावा कुछ ऑनलाइन टूल्स भी है.

आज के समय में इनका होने लाजमी है,अगर नहीं है तो इनके बिना आपको गुजारा नहीं हो सकता नीचे एक लिस्ट दी जा रही है जिन की आवश्यकता रहेगी. 

1.बैंक अकाउंट एक खाता किसी भी बैंक में होना चाहिए.
2.आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड.
3.जीमेल आईडी.
4.व्हाट्सएप आईडी.
5.फेसबुक पेज. 
6.नेट बैंकिंग,एटीएम कार्ड.

इनकी आपको कभी भी जरूरत पड़ सकती है,वैसे आजकल हर किसी के पास है,लेकिन अगर इनमें से एक भी नहीं,तो बना लीजिएगा.




13.वेबसाइट | scooter workshop repair website


वर्कशॉप की एक वेबसाईट भी होनी चहिऐ,बात करें इसके खर्च की तो बहुत कम पैसों से वेबसाईट बना सकते हो,लेकिन शुरू में नहीं चहिऐ,बाद में जब दूकान चलने लग जाऐ तब इसकी जरूरत पडेगी.




14.इंशायोरेंस | motorcycle repair shop insurance


वर्कशॉप का Insurance कराना भी जरूरी है,इसके लिए इंश्योरेंस एजेंट से तालमेल कर सकते हो,जहां पर एलआईसी का ऑफिस होगा उनसे तालमेल करके workshop इंश्योरेंस करवा सकते हो.




15.ओफर | bike service offers

जहां पर एक बात और समझने पड़ेगी,ग्राहक को कैसे खींचे ? लोगों को ऑफर दे कि अगर इलेक्ट्रॉनिक बाइक कार चल फिर स्कूटर इसके बिना पेट्रोल से चलने वाली मोटरसाइकिल स्कूटर एक्टिवा Repair करवाते हो तो बाइक की वाशिंग फ्री में की जाएगी.

ऐसा करने से ग्राहक { Customer } ज्यादा आएंगे तो इस तरह के ऑफर  समय-समय देते रहे इसके बिना अगर हमारी वर्कशॉप से अपनी activa repair करवाते हो,तो एक Muglail का पोज दिया जाएगा फ्री में. 





16.रेट क्यां रखें | bike repair service charges 

Bike repair rate बाइक की रिपेयर पर डिपेंड करता है और उस में डाले जाने वाले पूरजे पर और आपकी मेंटेनेंस पर पर dependent करता है.

बाद में अगर लेबर से काम करवाया है तो उस हिसाब से भी रेट तय करना पड़ेगा,आसपास बाइक रिपेयर सेंटर का रेट देखें और उनसे थोड़ा कम रखें.

जहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दें,कि Motercycle Repair | स्कूटर की रिपेयर| एक्टिवा Repair इन सब का रेट अलग - अलग रखें.





16.इंटरनेंट | Free wifi offer

ग्राहक को बढ़ाने का एक तरीका और है कि आप Workshop के आगे को बोर्ड लगा सकते हो जिसने इस चीज का बेरवा दे यहां फ्री वाईफाई मिलेगा अगर बाईक ठीक करवाते हो.  




17. दुकान खोलने का समय |bike repair shop opening time 

सुबह के समय दुकान खोलने का समय तय करें,इस के लिए एक पक्का समय तय करें जैसे सुबह 8 बजे का। यां फिर सुबह के 9 बजे का.




18. बंद करने का समय | bike repair closed time 

सुबह के समय की तरहा दूकान को शांम के टाईम बंद करने का भी एक पक्का टाईम होना चहिऐ,जैसे 7 बजे के बाद दुकान बंद। 8 बजे के बाद दुकान बंद.

 

19. डायरी | खाता बही 

वैसे तो आज का जमाना ऑनलाइन का है टेक्नोलॉजी का है,हिसाब किताब रखने के Laptop | Computer का use जो कर सकते हैं.

लेकिन,बजट काफी बढ़ जाएगा,तो ऐसे में 50,60 Rupay वाला रजिस्टर रख सकते हो,जिसमें उधार का पैसा किन — किन लोगों से लेना है और कौन पूरा हिसाब चूकता कर गया आज की टोटल कमाई कितनी हुई आदि,हिसाब किताब रखना भी आपके लिए बेहद जरूरी है.  





19.दुकान का मुहूर्त  

अब बात करें दुकान के मुहूर्त की जो की दुकान खोलना में से सबसे पहला कार्य रहेगा,dukaan ka muhurt सिपंल तरीके से करें.

इसमें ज्यादा खार्च करने की जरूरत नहीं,इसके लिए आप आस - पास के लोग | दोस्त आदि को आमतित्र भेंज सकते हो तां की पता चल सकें.

मारकीट में नई electric scooter repair workshop खूली है और इसके लिए Social media का भी उपयोग कर सकते हो. 



**************************

अंत में:-  

कुछ इस तरहां से इलेक्ट्रिक बाइक रिपेयर वर्कशॉप को इलेक्ट्रिक बाइक रिपेयर का काम सीखने के बाद आस — पास के ईलाकों में Open कर सकते हो,ऐसे में यह एक तरहां का घर का बिजनेस होगा.

अभी किसी — किसी के पास है इलेक्ट्रिक स्कूटर देखने के मिलता है,लेकिन आने वाले 10 पंदरां सालों में भारत की सड़कों पर यहीं नज़र आऐगी.

अभी आपको इस काम की पावर नहीं पता,लेकिन आने वाले समय में यह एक तरहां का सबसे ज्यादा कमाई वाला बिजनेस बनेंगा.

क्योंकि आने वाला दैर electric बाईक । कार । स्कूटर । साईकिल आदि का हीं रहेगा,अगर सोच रहे हो की घर से कौन सा बिजनेस शुरू करें तो यह आपके लिए सबसे बेस्ट रहेगा.

------------------------------------

FAQ 

1.Question :- नया बिजनेस कौन सा करें ?

Answer:- इलेक्ट्रिक बाइक मरम्मत की दुकान खोलना आज के टाईम का नया बिज़नेस रहेगा. 


2.Question :- 
गांव में कौन सा बिजनेस करें ?

Answer:-  आप कोई भी गांव में बिज़नेस शुरू कर सकते हो,जैसे की स्कूटर रिपेयर का और बिजली रिपेयर पार्टस् का और बिजली से चलने वाली स्कूटर की रिपेयर का. 



------------------------------------