Mason tools name | राजमिस्त्री के औजार | mason tools name with picture in hindi

 राजम़िस्तरी अपने औजार के बिना राजमिस्तरी नहीं कहलाऐगा यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की राजमिस्तरी का मुख्य टूल करनी है.


इसके बिना राजमिस्तरी { Mason } आपने काम को चालू हीं नहीं कर सकेंगा और एक राज मिस्तरी को किन — किन औजारों की जरूरत रहेगी,उसकी एक लिस्ट नीचे दी गई है.



masonic working tools | mason tools list with pictures | karni mason tools
vishvtrading.com

------------------------------------ 
------------------------------------ 

Mason tools name | राजमिस्त्री के औजार | mason tools name with picture in hindi


1 करनी :— करनी से यह लोग ​कई प्रकार के काम करते है,जैसे की ईट को तोडना । पलस्तर करना । रेत और सीमिेन्ट को बनाया । छोटी — मोटी चीज को तोडना आदि. 

2.कढ़ाई :— इसका उपयोग मसाले को रखने के लिए किया जाता है और इसको तगारी भी कहा जाता है यह बहुत हीं कम बजन की होती है.


3.हाथौडा :— इसका उपयोग ईट को तोडने और कील को ठोकने के लिए किया जाता,लेकिन कील ठोकने के लिए हल्का काम करने के लिए हौ​थोडी हीं काम आती है. 


जरूरी सुचना— हाथौडा दो तरहां के होते है एक हल्का और भारी 


------------------------------------ 


------------------------------------ 


4.श्ब्ब्ल :— यह भी राजमिस्त्री के बाकी टूल्स की तरहां सबसे अहम टूल होता है,इस टूल से राजमिस्त्री कई तरहां के काम लेते है,जैसे की किसी भारी चुगाट को उठाने के लिए इसे लीवर की तरहां उपयोग करते है.

इसके बिना यदि दीवार को तोडना हो यां फिर कोई और भारी चीज उठानी हो तो भी इसका उपयोग किया जाता है.


बात करें,यह किसी चीज का बना होता है,तो यह लोहे का बना होता है यह ना ज्यादा लंबा और ना ज्यादा छोटा होता है और बजन में हल्का सा होता है.


5.छेनी :— इसी तरहां का एक और Tools जिसको छेनी कहां जाता है और यह ईट को तोडने यां फिर ईट को तरासने के लिए use में लाई जाती है.


6.छालनी :— रेत और सीमिट को छानने के लिए छालनी का use किया जाता ऐ.

7.लोहो की आरी :— किसी चीज को काटने के लिए आरी का use किया जाता है.

8.गरमाला : — सीमिट को एक रूप देने के लिए गरमाले का उपयोग किया जाता है यह लकडी का बना होता है और यह बहुत हीं हल्के किस्म का होता है.

9.रूसा :— भारी चीज को उठाने के लिए रूसे का उपयोग किया जाता है.

10.सूत :— चनाई एक हीं लाईन यांनी की सीधी रहे इसके लिए सूत का यूज़ होता है.

11.साहल :— यह दीवार की सीधाई को नापने के लिए सूत के साथ बाध दी जाती है नीचे की तरफ.

12.पाईप :— चनाई को शुरू करने से पहिले लौवल किया जाता है इसके लिए एक पाईप का यूज़ होता है इसमें पानी डाल कर इसका लौवल किया जाता है.


13.जछताने :— हाथों को सीमिट से बचाने के लिए जछतानो का यूज़ किया जाता है.

14.पानी वाले डरम :— पानी को इक्ठां करने के लिए बडे ठरमों की जरूरत रहेगी.

15.गुनियां : इसको उपयोग दीवार को नापने के लिए किया जाता है.

16.कहीं : कहीं के बिना राजमिस्तरी के सभी कार्य अधूरे है इसका उपयोग नीव में खोदने के लिए किया जाता है.

17.फीता :— इसका उपयोग दीवार को नापने के लिए किया जाता है.



तो यह mason tools name थे,जिनकी एक राजमिस्त्ररी को हमोशा जरूरत रहती है,अगर आप राजमिस्तरी का काम शुरू करने जा रहे है,तो इन टूल्स को पहिले खरीदे तां की बाद में आपको किसी किस्म की कोई परेशानी ना आऐ.

----------------------------------




FAQ 

1.Question :- शब्ब्ल किस धातू की बनी होती है ?

Answer:- राजम़िस्तरी के काम में इसका ​अहिम योगदान होता है और यह लोहे की बनी होती है. 


 
2.Question :-शब्ब्ल की लबाई कितनी होती है ?

Answer:-  शब्ब्ल की लबाई 4 यां 5 फूट होती है. 


 
3.Question :-शब्ब्ल का बजन कितना होता है ?

Answer:-   इसका बजन सरीए की मिटाई पर निर्भर करता है।



------------------------  




SHARE THIS

Author:

I LOVE WRITING

Previous Post
Next Post