गांव में करने लायक बिजनेस | दीपावली पर शुरू करें यह बिज़नेस और कमाए हजारों

This article protected by D.M.C.A| don't copy for any purpose यह लेख D.M.C.A द्वारा संरक्षित है.| किसी भी उद्देश्य के लिए कॉपी न करें. 


इंट्रोडक्शन/परिचय

कार्य करना ही जीवन का एक मात्र उदेश्य हैं.सरल ज़बान में कहे की इंसान को अपना पेट भरने के लिए कोई ना कोई काम आवश्यक करना पड़ेगा,अगर,आप कोई भी छोटा - मोटा बिजनस कर रहे हो,जिसके अधार पर आपकी रोजी — रोटी चलती ऐ. 


1.आपके घर वाले.
2.बाहर वाले.
3.Gaon wale.
4.अपके मित्र.
5.रिशतेदार.

आदि लोग आपकी खूब तारीफ़ करेंगे.

अगर पढ़ - लिख कर गलीयों Galiyon में अहारा घूमते रहे खाली पार्क में बैठे रहेगोंलड़कियों के साथ मोजस्सती में अपना समय samay खराब करोगों.
 



 
सीधे सी बात,आप कोई कार्य जा फिर कोई खुद का बिजनेस  नीं करोगों 

1.नां तो घर वाले.
2.मित्र.
3.रिशेतदार.


गांव में करने लायक बिजनेस | diwali business ideas in hindi  | गांव में कौन सा बिजनेस शुरू करें
 vishvtrading.com/


कोई भी अच्छा नहीं मानेगे,क्यों नहीं मानेगे इसके बारे में जानते हो की आप क्यां कार्य कर रहे हो,यह बात सत्य ह, जिन लोगों के पास रपए होगा,उनके पास बहुत कम talent देखने को मिलेगा.


           लेकिन,दूसरी ओर देखे वो इंसान जो गरीबी की झोली में अपनी जिन्दंगी काट रहा होंगे,उसके पास तो हैं, लेकिन पैसा नी सीधी बोली में बोले की गरीबी की हालत में रहते हुऐ आगे नही बढ़ सकते,khud ke bisnis ki baat ही निराली ......जिसको शब्दों में ब्यान करना कठिन कार्य होगा.


बिज़नेस biznesh की महानता को हम कुछ इस तरहां ब्यान करेंगे.

1.यहां पर आप अपने मालिक खुद हो.
2.कोई आपको यह नहीं बोलगा......की आज तुमको मैं छूटी नहीं दे सकता.
3.कोई यह नहीं पूछेगा तू आज लेट क्यों आऐ हो?
4.कोई तुमको भरी बराच में उॅच्ची आवाज़ में यह कह कर नही डाटेगा,तुमने काम क्यों नी किया ?
5.कोई तुम से यह नी कहेगा आज तुमने लेट घर जाना होगा.
6.समाने वाला आपको यह नही कहेगा फोन करके,हमने sanivaar को भी दफतर लगना हैं काम इकडा हुआ पडा है.


बाकी JOB करने वाले के साथ क्या - 2 होता हैं,खुद समझदार हो बताने की कोई जरूरत नही,लेेकिन apne इन सारी बंन्दशों से अज़ाद होकर खुद पैरों पर खडा होकर गांव में चलने वाला उद्योग प्रारंभ करना होगा.

बाद में धीर — धीरे मेहनत करके उसको एक बड़े बिजनेस के रूप में लाकर दुनिया के आगे खडा करना होगा,यहीं हमारा जिन्दंगी का लकश रहेगा. 



तो,अगर इस सोच से तनाव MEIN है की गांव में कौन सा बिजनेस शुरू करें यां फिर मेरे पास पैसा नी तो यहां पर कम पैसें में एक अच्छा और गांव में करने लायक बिजनेस के बारे में जाऐगा.

खास बात यह होगी की इन घरेलू बिजनेस 
को गारीब आदमी। कम पढ़ लिखा आदमी बिना किसी रोक - टोक से शुरू कर सकेगा,तो चलिऐ,आगे बात करें विस्तार रूप से गांव में करने लायक बिजनेस आईडीयां की.


1.दीपावली 2021 में कब की है 

बात करें, की 2021 में deepawali कब है तो यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे की इस बार दीपावली Thursday, 04 November 2021 को पूरे भारत में मनाऐ जा रही है. 





2.बिज़नेस के बारे में दो शब्दो में जानकारी 

देखिऐ भाई और बहनों india एक ऐसा देश यहां पर आपको कई धर्मो को पुजाने वाले लोग देखने को मिलते हैं,इनमें से धर्म हिन्दू  का तैयाहर  #deepawali  इस धर्म के सभी त्यौंहरों का राजा hian.

आज से ही दीपावली की तैयारीयां शुरू हो चुंकी हैं.​जो लोग इस फेस्टिवल से जुडे व्यवसाय करते होगां  
उन्होंने ने अभी से समान बनाना पांरभ कर दिया, जैसे मिठाई | बिजली के रोशनी वाले बलब आदि.

तो आप व्यवसाय को आंरभ करके दीपावली के आने से पहले —2 अच्छी कमाई कर सकते हो,क्योंकि दीया  diya चराग यह सबसे ज्यादा सेल होना वाला समान हैं.




3.बिजनेस आइडियाज

इस घर बैठे उद्योग का नाम दिये  बनाना.




1.How to make diya at home with mud | मिट्टी का दिया कैसे बनाते हैं


1.मिट्टी के बर्तन बनाने की विधि काफी असान है,इसके लिए मिट्टी की आवशक्ता होगी और यह हमें गांव से ही मिलेगी,शहर से नही और नां ही किसी दुकान पर.

गांव से {gaon se} हो तो आपको किसी परेशानी का समाना नहीं करना पडेगा,अगर आपका निवास शहर कस्बे में hain, तो आपको गांव जाकर पहले मिट्टी का दिया बनाने के लिए chikani mati लेकर आनी होगीकी जरूरत पडेगी.

बात करें,की मिट्टी के दीपक कैसे बनाते हैं ? तो इनको बनाना कोई मुशिकल कार्य नीं होगा,छोटे — छोटे बच्चे बडी असानी से बना लेते है,यहां नीचे पूरी विस्तार रूप से बताने की कोशिश की गई है की mitti ka diya kaise banaen तां की आप अच्छी तरहां से सीख सकें. 



2.जगा । Place

इसके लिए कोई showroom नी चहिऐ,बस एक कमरे जितनी जगा की जरूरत होगी,वो आपके पास होगी हीं,अगर आप के पास कोई खाली कमरा { Room } नही,तो आंगन में mitti ka diya banane ki machine लगा सकते हो. 



3.लकड़ी। lakdi 

दीपक | करवे को पकाने के लिए आग चहिऐ और आग तभी चलेगी जब पास लकड़ीयां होगी,इनको लेते समय आपको एक बात का ध्यान रखना होगा की छूकी लकड़ीयां लेनी है अगर गीली लोगें तो बाद में  परेशानी होगी.



4.माचिस की तीली ।Machis 

आग जलाने के लिए माचिस की जरूरत होगी,कौन सी कंपनी की माचिस अच्छी है उसके बारे में अच्छी तरहां से मालूम होगा,इसका एक बडा पैक्ट खरीद ले.




5.भट्टी। Bhatti 

दीपक पकाने के लिए भटटी की जरूरत पड़ेगी,याद रहें की भटी खुले मौदान में ही बनानी होगी,एक बात का और ध्यान रखें, इसको ऐसी जगा पर बनाना,यहां पर हवां ना लगे क्योंकि यह आप भी जानते हो हवां में आग जलती नहीं.





6.मिट्टी के दीए बनाने वाली मशीन| मिट्टी के बर्तन बनाने का चाक


कुछ लोग नहीं जानते की चाक क्या होता है ? तो यहां पर उनकी जानकारी के लिए बता दे,चाक एक लंबा और गोल आकर का चक्कर ही हें.

जिसकों चाक यां फिर चक्कर बोल सकते ह। अब बात चाक की जिस पर दीयों को बनाऐगे diye ko banaye इसको बजार से यां फिर अगर Goan mein किसी के पास जो यह कार्य करता हो.

उससे पुराना भी खरीद सकते हो,नया की जरूरत नीं मिट्टी के दीए बनाने की मशीन भी बज़ार में मिल जाऐगी,लेकिन दीए बनाने की मशीन काफी ​महिंगी है जिसको हर कोई नही purchase सकता. 

इस लिए यदि आपके पास मशीन लेने के लिए पैसे नहीं तो चाक से मिट्टी के दीए बनाने का  तरीका अच्छा रहेगा आपकी कशरत भी हा जाऐगी और पैसा भी बच जाऐगा. 





7.मिट्टी के बर्तन बनाने की मशीन प्राइस | diya making machine price in india

जैसे - जैसे जमाना तेजी से बदल रहा है,वैसे हीं जो कार्य हाथों दूबारा किऐ जाते थे,उन की जगा अब मशीनों ने ले ली है.

मिट्टी के बर्तन बनाने के लिए आज कल बज़ार में इलेक्ट्रिक चाक भी मैजूद है बात करें मिट्टी के बर्तन बनाने की मशीन प्राइस के बारे में तो यह 20,000 हज़ार से लेकर 22,000 हज़ार तक रहेगी. 




8.चाक को घुमाने के लिए डंडा  

इस कार्य में हमें एक डंडे की जरूरत होगी,इस के लिए आप बाहर खेत में किसी पेड की साफ सूधरी टाहनी  का बना लें काम चल जाऐगा,डंडे की लगाई कम से कम 4 फीट होनी चहिए.



9.छोट पटडा chota table 

एक छोटा सा पटडा चहिऐ,जिस पर बैठकर आपने work करना होगा यह लकडी का होना चहिऐ.




10.रंग। color 

करवा karva पर ​फूल और बूटियां डालने के लिए हमको कोई तरहां के रंगो की आवशयकता पडेगी

जैसें की:— 1.हरा रंग | 2.लाल रंग | 3.पीला रंग | 4.काला रंग 

आदि,इनको गांव की परचून दूकान से या फिर शहर से परचेस कर सकते हो,रंगों का उपयोग करवें और दीऐ को सुन्दर बनाने के लिए किया 
जाता ऐ तो इनको उपयोग जरूर करें. 




11.बुर्श | Brush

करवें और दीए पर फूल और बूटियां छापने के लिए आपको बूर्श की जरूरत होगी,बर्श एक नहीं एक से ज्याद खरीद करें,क्योंकि कई बार टूट जाता हैं. इनकों आप रंगों के साथ ही खरीद लें.




कुछ इस तरहां का समान लेना होगा,इस कार्य को चालू करनें के लिए उम्मीद ह आपको  समान के बारे में अच्छी तरहां से पता चल गया होगा,तो चलिए अब अगले चरण की तरफ बढ़ते 
है.

1.कितनी मिटटी चाहिए 

इस में हमको एक #trolley मिटटी की जरूरत पडेगी और बाद में आप अराम से काम कर सकते हो.क्योंकि कई बार क्या होता हैं,की समय पर जीच नहीं मिलती और कार्य रूके ना इस लिए पहले ही ज्यादा मिटटी खरीद कर लेनी ह.



2.मिट्टी की ट्राली का रेट | mitti ki trali ka kiya rate hai  

बात मिटटी के रेट की करें,यह हमेशा के लिए एक जैसा नीं होगा, वैसें जो रेट आज का ह वो 800 रू से लेकर 1000 रू रपए तक का हैं,इस मे टा्ली के बडी - छोटी होने के कारण भी रेट कम ज्रूादा हो सकता ह.




3.लकड़ी का रेट  

लकड़ी को गांव | शहर से Purchase सकते हो, इसका रेट अलग - 2 होगा,दूसरी तरफ खेत में कोई छूका पेड खडा ह....तो उसको काट कर काम चला सकते हो,लेकिन हरे पेड को मत काटना.



4.प्रशिक्षण। traning parashikshan 

कहते ह दिल | दिमाग | मन लगा कर किसी कार्य को सीखें,तो वो कठिन से असान लगने लगता हैं,यहां बात सिखलाई की हो रही ह,तो ऐसे में आप गांव में किसी से इसकी ट्रेनिंग ले,बात करें सिखलाई के समय की वो कम से कम 20 यां 25 दिन काफी होंगे.




5.मिट्टी के बर्तन बनाने की विधि। mitti ke bartan kaise banate hain 

मिट्टी के बर्तन बनाना बहुत ही असान भी है ओैर जोखिम वाला भी है,पहले -2 थोडा मुशिकल जरूर होगा,लेकिन इसमें अपने गुरू की मदद लें और दूसरी तरफ आप youtube से भी सीख सकते हो जो की आपका आनलाईन टीचर है.




6.दीपावली दीपक की किस्में | diwali diyas types

दिपवाली पर उपयोग होने वाली दीये की अनकों किस्में मारकीट में मैजूद करती है जैसे  

1.साधरण दीया.
2.डिजाइन वाला.
3.छोटा दीपक.
4.बडा दीया.
6.चार मुह वाला दीया.




7.संगीत का प्रयोग| music

काम को और मजेदार बनाने के लिए संगीत बजाए, इसके लिए रेडिए /Radio/ Youtube आदि का उपयोग कर सकते हो.




8.दूकान कहा पर लगाए | diwali par shop kaha par lagaye

इस बार दिवाली Thursday, 04 November 2021 को  आ रही ऐ,तो ऐसे में आप अभी से दीेपावली में उपयोग होने वाले मिटी के सभी प्रकार के बरतन बनाने लग जाऐ.

तो अभी काफी समय है आपके पास,उसके बाद बात करें की दूकान कहां पर लगाऐ,यहां पर समान ज्यादा से ज्यादा सेल हो सकें.





9.आनलाईन समान बेचना

जमाना आनलाईन का है, वो वक्त जाने वाला हैं जब लोग टीवी/T.V पर अपना advertisement देते थे, ओैर लोगों की तरहां आप भी दीया | और मिटटी के बनतों को आनलाईन बेच सकते हो.

दुनियां की कुछ मशहर और जानी - मानी Online shoping वेबसाईट जैसे की  Amazon | Flipkart यहां पर लोग लाखों की purchase करते ह,आप भी ओमाजॉन से बात करके समान को लोगों तक आनलाईन पहंच सकते हो. 




10.ऑनलाइन रेट | online rate

बात करें,आनलाईन रेट की तो हर आईटम का रेट एक अलग रेट होगा,उसको पर पीस के हिसाब से तय कर सकते हो. 




11.ऑफलाइन रेट | diwali diya price

आफलाईन रेट के बारे में काफी लोग नहीं जानते,लेकिन फिर भी आप सब की जानकरी के लिए बता दे,यह  बाहर का रेट है,जिसको हम बाहरी आफलाईन रेट बोल देते है,इसको अपने मुताबिक रख सकते हो.


लेकिन फिर भी आपको रेट निकाल कर दे रहे हैं, इसको लेकर अपना रेट बना ले यां फिर यहीं चलने दे.यह आप पर होगा की आप क्या फैसला लेते हो.

1.यहां पर जो रेट निकालेगे वो एक दीपक का रेट निकालेगे मिसाल में।

दीया का रेट — 5 or 10 रू।

ध्यान देने वाली बात,यह कवेल साधारण दीपक का रेट निकाला हैं और आगे आप इस रेट पर लोगों को दीया सेल करें.





12.डिजाइन वाले दीऐ का रेट  

उपर आपको बताया साधरए दीए का रेट बताया,अब बात करे डिजाइन वाले सुन्दर दीपक रेट की,नीचे रेट के बारे में बताता है.

1.डिज़ाइन वाले दीया का रेट —10 से लेकर 25 रू तक रखें,बाकी कस्टमर्स यहां तक टिक्ता ह उसको उस रेट पर सेल करें,लेकिन कम रेट पर भी नहीं.




13.करवा का रेट | diwali karwa price

इसका भी पीस के हिसाब से रेट निकाल लें जैसे :- 20 से 50 रू का.




14.बाकी आइटम का रेट 

इसके ईलावा जो भी ​दीवाली के लिए समान बनाया है,उसका इसी तरहां से रेट निकाल कर बाद में सेल कर सकते हो. 



15.नवरात्रि पर दीपक और करवां बेचना.

कुछ ही दिनों में #navaratri शुरू होने वाले हैं और इस में भी दीपक का काफी उपयोग होगा,ऐसे में आप दीपक इसके बिना मिटटी से बिना समान की दुकान मंदिरों के आसपास लगा सकते हो,क्योंकि जो लोग मंदिर आते है वो जाते — जाते आपसे समान जरूर खरीदेंगे.




16.Dashhra वाले दिन लागए दूकान

दशहरे के दिन भी दूकान सजाऐ,क्योंकि दशहरे वाले दिन लोगों की मंदिरों में भीड रहती है,तो ऐसे में समान ज्यादा सेल होने के चानश रहते है.



17.कितने पैसे चाहिए  

मिटटी के दीए और मिटटी का समान जैसे बरतन आदि को बनाने के लिए ज्यादा पैसों की जरूरत नहीं रहेगी,
इस छोटा -धंन्धें को बहुत ही कम पुंजी में आंरभ कर सकोगे,यांनी की 20,000 हज़ार से 30,000 हज़ार तक पैसों की आवश्यकता  होगी.



18.कमाई | Earning

अब बात करें,कमाई कितनी होगी? तो अब से लेकर दिपावली तक अच्छी कमाई कर सकते हो,कुछ इस तरहां से एक दिन की कमाई { Din ke kamai } का पता कर सकते hain.

1.450 पीस दीया कें रेट 5 रू के हिसाब से।
2.200 पीस करवा के रेट 10 रू के हिसाब से।

टोटल — 2250 x 2000 — 4250

आपकी एक दिन की कमाई हो गई - 4250





19.सुध इनकम | Net profit

इसको हम ऐसे निकालेंगे अगर एक दिन का 100 रू कमा लिया,खर्चा हुआ 60 रू और बाकी बचे 40 रू यह हुई आपकी शुद्ध आमदनी हो गई. 


दिपावली के तैयाहर को मुख्य रखते हुऐ शुरू करें साथ में यह गांव में चलने वाला बिजनेस जिनको दीऐ औश्र मिटटी के समान की दूकान लगाने के समय शुरू कर सकते हो 


1.रंग — बिरंगे फूल या माला 

अक्सर आपने लोगो को दीपावली पर अपने आंगन में रंग — बिरंगे फूलों की माला सजाते देखा होगा, यां फिर दूकानों से खरीदते देखा होगा, तो आप इनको भी सेल कर सकते हो कम - रेट पर खरीद कर.

फूलों की माला की किस्में।

1.लाल - फूलों की माला.
2.हरे रंग की.
3.पीले रंग.
4.गूलाबी रंग की.
5.नीले रंग की.


आदि.



2.हार बेचना

फूलों की माला के साथ हारों को भी सेल कर सकते हो,इनकों दिल्ली के होल - सेल मारकीट से कम कीमत पर खरीद कर आगे ज्यादा रेट पर सेल करें, हार बेचने का रेट10 रू रख सकते हो.




3.रंग - बिरंगी बिजली की लड़ियां colorful electric wire 

साथ में आप लड़ियां यां झालर रंग - बिरंगे लाल - पीले बलब सेल कर सकते हो,देखा जाऐ तो यह चीजें काफी ज्यादा सेल होती हैं और आप दिल्ली से इनको wholesale market से बहुत ही कम कीमत पर खरीद कर आगे ज्यादा कीमत पर सेल करके अच्छी कमाई कर सकते हो.




4.रंगोली के रंग

दीपावाली पर लोग घरों में रंगोली बनाते है और इसके लिए वो तरहां -2 के रंगों का use करते है,आप साथ में रंग — बिरंगें रंगों को रख कर इनको भी सेल कर सकते हो.




5.दिवाली पूजा वाली मूर्ति 

आरती के लिए मूर्तियों रख सकते हो,क्यांेकि ऐसे लोग बहुत आऐगे जो आप से दीपावली पर पूजा के लिए मूर्तियों की मांग करेगें.

आप कुछ इस तरहां की मुर्ति रख सकते हो सूची नीचे दी ऐ.

1.मां लक्ष्मी जी की मूर्ति.
2.जगत पिता गणेश जी की.
3.जगत पिता भगवान शिव शंकर महाराज जी की.
4.जगत पिता भगवान राम चन्दर महाराज जी की.
5.हनूमान जी की.

आदि.





6.तस्वीरों  

सुन्दर और अच्छी तस्वीरें भी साथ में रखें,कुछ लोग दीपावली वाले दिन तस्वीरों को घर की दीवारों पर लगाते ऐ,आप इस तरहां की तस्वीरों को रखे जैसें की :-

1.छोट बच्चाों की.
2.जनवारों की.
4.मंदिनों की.
5.दुनियां के कुछ जाने माने स्थानों की.



अंंत में।

कुछ इस तरहां,आप ​दीपावली से पहले अच्छी कमा कर सकते हो,इस कार्य को चालू करके.दूसरी बडी बात यह मुनाफे वाले बिजनेस रहेगे आप इन दो महिनें में इतना कमा सकते हो,जितना पुरे साल में नहीं कमा सकते,तो सोचिऐ मत आज हीं काम पर लग जाऐ,आपके पास वक्त {time} बहुत कम बचा हैं।


--------------------------- 

FAQ |आपके सवालों के जवाब 

1.Question :- मिट्टी के बर्तन बनाने की मशीन कहां मिलती है?

Answer:- मिट्टी के बर्तन बनाने वाली मशीन हो जा फिर मिट्टी के दीए बनाने वाली मशीन इसको कहीं से भी कर Purchase सकते हो Offline और ऑफलाइन भी चेक कर सकते हो, सस्ती मशीन आपको ऑनलाइन ही मिलेगी.


2.Question :- चाक को घुमाने के लिए डंडा की लबाई कितनी होनी चहिए? 

Answer:- चाक घुमाने के लिए जो डंडा का उपयोग किया जाता है उसकी लंबाई कम से कम 4 फूट से कम नहीं होनी चहिऐ.....और ज्यादा लंबा भी नहीं होना चहिऐ.


3.Question :-खिलौनेए,मूर्तियांए,दिया बनाने के लिए किस मिट्टी का उपयोग करते हैं

Answer:- मिटटी के दिया बनाने के लिए चिकनी मिटटी का उपयोग किया जाता है.


4.Question :- दिया बनाने के लिए मिट्टी कहां से ले ?

मिटटी के दिया बनाने के लिए चिकनी मिटटी  नदी के किनारें से यां फिर नहर के किनारें से यां गांव की छपड़ से ले सकते हो.


The End.




SHARE THIS

Author:

I LOVE WRITING

Previous Post
Next Post