Showing posts with label Dukan ke parchar ke liye vigyapan. Show all posts
Showing posts with label Dukan ke parchar ke liye vigyapan. Show all posts
2022 | 5 टिप्स दुकान बेचने के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | How to write vigyapan in hindi

2022 | 5 टिप्स दुकान बेचने के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | How to write vigyapan in hindi

Shop advertisement poster:- प चाहे कोई छोटा बिजनेस कर रहे हो, जा फिर कोई घरेलू उद्योग अगर आप उसको बिना सोचे समझे जा फिर बिना Planing बनाएं.


आरंभ करते हो,तो वह ज्यादा Time तक नहीं चलेगा, इसके पीछे बहुत सारे कारण हो सकते हैं,ऐसे में अगर आप कोई अपने Gaon mein या फिर अपने शहर में कोई नई कपड़े की दुकान  खोल रहे हो.


जा फिर इसके बिना और अपने इलाकों में कोई Shop Open कर रहे हो.



shop advertisement poster | दुकान किराये से देना है विज्ञापन | apni dukan ko kiraye par uthane ke liye vigyapan taiyar kijiye
vishvtrading.com


तो आपको अपने Dukan bechne ke liye vigyapan ज्यादा से ज्यादा करनी होगी,वो इस लिए जो Shop बना रहे हो जा फिर ओपन कर रहे हो.



तां की उसके बारे में खुलकर लोगों को पता चल सके,अब आप बिना Shop advertisement किए अपने शॉप को सेल नहीं कर सकते क्योंकि,मार्केट में पहले ही ज्यादा कॉन्पिटिशन है. 




तो अब बात आती है,की अपने अपने Gaon mein यां फिर अपनी City 
में दूकान बनाकर छोड दी और उसको किराऐ पर चढाना चाहते हो,यां फिर बात करें की Shop sale करना चाहते हो.


तो आज इस लेख में आपको विस्तार पर्वुक समझाय जाऐगा की Dukan bechne ke liye vigyapan कैसे लिखा जाऐगा,जानने के लिए बने रहे इस Article के साथ.



2022 | 5 टिप्स दुकान बेचने के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | How to write vigyapan in hindi



Advertisement for shop on rent | Sale 

यहां नीचे आपको Shop advertisement poster दुकान किराये से देना है विज्ञापन लिखने से ​पहिले कुछ बांतों का ध्यान रखना पडेगा,जिसको नीचे बडे विस्तार रूप से समझाया गया है.



1.दुकान का एरिया 

अपनी दुकान को किराए पर उठाने के लिए दूकान का विज्ञापन तैयार करते समय Shop के ऐरिए के बारे में जरूर बताऐ,Because तां की सामने वालों को ठीक से पता लगा सकें.   




2.दूकान में क्यां — क्यां  सुविधा है. 

यहां पर दूसरी बडी गलती यह है,की दूकान में क्यां — 2 Suvidha दी है,उसके बारे में लोग बहुत काम लिखवाते है,तो ऐसा करने से समाने वाले को ठीक तरहां से पता नहीं चलता.

आप क्यां — 2 Facilitates  दे रहे हो,उसके बारे में जरूर पताऐ जैसे की Internet की सुविधा । जैसे की A.C सुविधा आदि, ऐसे करने से Customers किराए की दुकान  ​लेने में ज्यादा रूचि दिखाता है.  





3.विज्ञापन का पोस्टर लगाने की सहीं जगा 

नई दुकान किराए पर देनी है यां फिर Purani dukan kiraye par hai kya के विज्ञापन पोस्टर लगाने में अक्सर लोग गलती कर जाते है.

ऐसे जगा पर पोस्टर लगा देगे,यहां पर लोगों का ध्यान हीं नहीं जाता,यहां नीचे दुकान बेचने के लिए विज्ञापन लगाने की सहीं जगा के बारे में बताया गया है।

1.सिनेमा घरों के पास.
2.बस स्टैंड के पास.
3.रेवले स्टैशन के नजदीक.
4.पार्क के नजदीक.
5.बैंकों के नीचदीक.

तो यह वो जगा है, यहां पर Purani dukan ko bechne ke liye vigyapan के पोस्टर लगा सकते हो और इस तरहां की जगा पर लोगों की भीड ज्यादा रहती है. 



 

4.भाषा

अपनी दुकान को किराए पर उठाने के लिए लगभग 25 50 शब्दों में एक विज्ञापन तैयार करते Time एक बात का और खआल रखना पडता है,वो यह की आपने Language पर ज्यादा ध्यान देना है.

आपके ईलाके में लोग जो Boli  को ज्यादा बोलते है,उस भाषा में दूकान का विज्ञापन तैयार कीजिऐ अगर हिन्दी की जगा  french लिखते हो तो कोई पढ़ने वाला नहीं है.




5.कम से कम शब्दों का उपयोग करना

यहां पर आप लोगों को एक बात और बताने जा रहे है,की Dukan kiraye par dena hai vigyapan लिखते समय जितना हो सकतें,उसको छोटा रखें और Point to Point बातें लिखें,क्योंकि जितना आप कम लिखते हो समाने वाला उतना,जितना पढेंगा और समाने वाले को अच्छा भी लगेगा.




अपनी दुकान को किराए पर उठाने के लिए लगभग 50 शब्दों में एक विज्ञापन तैयार कीजिए उसी तरहां जैसे की नीचे आपको बताया गया है.

खुशखबरी ......खुशखबरी ......खुशखबरी 

क्यां आपको दूकान चहिऐ किराऐ पर ? ..........{ दूकान का एरिया यहां लिखे.} ............ शांनदार लोकेशनहवादार कमरें3 साल के एगी्मेंट पर लगभग 30 प्रतिशत की छूट आफर कवेल 5 दिन के लिए...जल्दी कीजिऐ.....फोन उठाऐ इस नंबर पर घुमाऐं जल्दी करेंं,कहीं हाथ से दूकान निकल ना जाऐ. 

1.फोन नंबर — 
2.दूकान का पता — 


अंत में :- तो ऐसे आप Shop advertising poster हिन्दी में यां फिर किसी और Language में लिख सकते हो और उपर आपको इसके बारे में बडे विस्तार रूप से बताया गया है.
  

खिलौनों की दुकान का विज्ञापन in Hindi | khilone ki dukaan ke liye vigyapan

खिलौनों की दुकान का विज्ञापन in Hindi | khilone ki dukaan ke liye vigyapan

प किसी भी क्षेत्र में Business करने जा रहे हो,ऐसे में आप छोटे बिजनेसमैन हो | बड़े बिजनेसमैन हो.इसके बिना अगर आप अपने Gaon में.


जा फिर कह लो कि अपने इलाके में अपने शहर में किसी किस्म का घरेलू उद्योग | लघु उद्योग |  छोटी मोटी किराना दुकान स्टार्ट कर रहे.


यां फिर कपड़े की दुकान लगा रहे हो,जैसे संडे सेल यां फिर संडे मारकीट में तो आपको अपने बिजनेस का प्रचार करना होगा और प्रचार कैसे किया जाता है विज्ञापन के जरिए.


Toy shop advertisement | toy shop advertisement in hindi
vishvtrading.com


ताकि लोग vigyapan के जरिए,दुकान तक पहुंच सके और आपके Product की सेल ज्यादा से ज्यादा हो सके,हर कोई चाहता है.कि उसका माल ज्यादा से ज्यादा Sale हो.

और सेल तभी होगा,जब आप ज्यादा से ज्यादा एडवर्टाइजमेंट करोगे,जहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें,आज के जमाने में दुकान का प्रचार 2 तरीकों से कर सकते हो.



एक ऑफलाइन हो दूसरा ऑनलाइन,यहां पर आपकी जानकारी के लिए बता दे, की वो टाईम गुजर निकल गया की आफलाईन Shop ka parchar करके हमारा काम चल जाता था.


किंतू,आज के टाईम की बात करें,तो आज के Time में आपको हर तरीके से नई दूकान का ​प्रचार करना पडेगा,जैसे की आफलाईन । आनलाईन । प्रिंट मीडियां आदि


तां की आपकी Shop के बारे में हर किसी को पता चल सकते,यहां नीचे आपको विस्तार रूप से समझाया गया है की एक ​दुकान का विज्ञापन कैसे तैयार किया जाता है.


खिलौनों की दुकान का विज्ञापन in Hindi | khilone ki dukaan ke liye vigyapan 

एक अच्छे और बढ़ियां खिलौनों की दुकान का विज्ञापन कैसे लिखे? यां फिर लिखने से पहिले कौन — 2 सी मोटी — 2 बातें का ध्यान अपने रखना है.

वो यहां नीचे आपको विस्तार रूप से समझाया जा रहा है वो भी आपकी भाषा हिन्दी में पूरी जानकरी पढ़े,उसके बाद फिर अपनी दूकान के प्रचार के लिए Vigyapan तैयार करें.


1.बजट :-

सबसे पहिली बात वो रहेगी आपके बजट की,यहां बार गैर करने वाली बात यह है की दुकान की ऐड आप 2000 हज़ार में भी कर सकते हो.

और दूसरी तरफ दूकान का प्रचार आप 50,000 हज़ार लगाकर भी कर सकते हो,यहां पर बात पैसों की आ जाती है साफ — 2 कहें की चाय में मीठा जितना डालोंगे वो उतरी मीठी बनेंगी.

खिलौनों की दुकान का विज्ञापन करने से पहिले एक बार बजट की योजना बना ले,की हमें किस तरीके से खिलौनों की दुकान का विज्ञापन देना है.

जैसे की :— आफलाईन हीं देना है.

जैसे की :—  हमें कवेल Google Ads पर हीं खिलौनों की दुकान का विज्ञापन देना है.

जैसे की: — हमने कवेल अखबार में खिलौनों की दुकान का विज्ञापन देना है.

उस हिसाब से शॉप का प्रचार पर आने वाले खर्च की रूप-रेखा तैयार की जाऐगी.


2.लैंगुएज

लैंगुएज का भी एक अहिम रोल होता है एक दूकान का vigyapan लिखते समय,हमोशा याद रखें आप चाहे किसी भी दुकान के लिए Vigyapan तैयार कर रहे हो,जिस ईलाके में जो बोली सबसे ज्यादा बोली जा रही है उस भाषा में Vigyapan तैयार कीजिऐ.



3.विज्ञापन लगाने की जगा का सहीं जुनाव

इस बात पर भी आपको ध्यान देने की सबसे ज्यादा जरूरत होती है यहां पर आप थोडा सोचे की हम खिलौनों की दुकान का विज्ञापन कहां — कहां पर लगाऐगे.

खिलौनें किस को पसंद होते है बच्चों को तो आप उस जगा पर विज्ञापन लगाऐ इन जगा पर लगाने की कोशिश करें जैसे की :-

1. बच्चों के स्कूलों के आगे.
2 .पार्क वाली जगा के पास.
3 .स्विंगिंग पूल के पास.

आदि,यह कुछ ऐसी जगा है,यहां पर आप खिलौनों का विज्ञापन लगा सकते हो.



4.सरल भाषा का उपयोग 

खिलौनों की दुकान का विज्ञापन   लिखते समय जितना हो सके,सरल भाषा का इस्तेमाल कीजिए, तांकी  विज्ञापन को कम पढ़ा लिखा भी आसानी के साथ पढ़ सके.


5.आफर

खिलौने पर अगर,आप offer दे रहे हो,तो उसके बारे में जरूर लिखीऐ तां की Customers को इसके बारे में अव्छी तरहां से पता चल सकें.



6.आकर्षक बनाएं 

khilono ki dukan par vigyapan लिखते समय जितना हो सके,उतने का आकर्षक शब्दों में लिखें,ताकि पढ़ने वाला चौक जाए और उसे देखा कि Toys shop पर आए.



7.फ्री डिलीवरी ऑफर 

आजकल लोगों के पास, Time कम होने से लोग दुकानों पर मुश्किल मानते हैं Toy shop advertisement लिखते समय फी् डिलवरी का आफर भी दे.



8.विज्ञापन का डिजाइन

खिलौनों की दुकान के लिए विज्ञापन लिखते समय एक और बात का ध्यान रखना है, वह यह है कि विज्ञापन का  साफ सुथरा हो.

जहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें, जितना ज्यादा विज्ञापन का डिजाइन क्लीन होगा उतना दूसरों को पढ़ने में अच्छा लगेगा.




खिलौनों की दुकान का विज्ञापन in Hindi | khilone ki dukaan ke liye vigyapan 

उपर आप को विस्तारपूर्वक समझाया गया,की एक खिलौनों की दूकान के लिए vigyapan कैसे लिखा जाता है,यहां नीचे आपको Toy shop advertisement का एक सिपल दिया गया है,जिस के अधार पर आप अपनी Toy shop के लिए advertisement लिख सकते हो.


खुशखबरी । खुशखबरी । खुशखबरी

प्यारें बच्चों अब हम लाऐ है,आपके लिए आपके शहर में खिलौनों की दुकान यहां आऐ और हर खिलौने पर 20 प्रतिशत की छूट पाऐ । अगर आप दो खिलैने पर इतनी भारी छूट आइिऐ हमारी दूकान पर लीजिऐ खिलौनो पर भारी से भारी छूट आइिऐ — आइिऐ.

दूकान का नाम....... | फोन नंबर ...... | पता.......

जरूरी सूचना.....हमारे यहां पर फी् डिलिवरी का आफर चल रहा है.



अंत में :- 

तो ऐसे बहुत हीं कम शब्दों में खिलौनों की दुकान का विज्ञापन हिंदी में लिखा जाता है,यहां पर एक और जानकारी आप लोगों के लिए है की विज्ञापन पर खिलौने के नाम नहीं लिखने

बहुत से लोग खिलौनों की दूकान के पोस्टर पर खिलौनों के नाम लिखा देते है,तो ऐसे करने से पोस्टर पर लिखा पढ़ना मुशिकल हो जाता है और गा्हक के पास यांनी की जनता के पास आजकल इतना टाईम नहीं.

की वो आपके पोसटर पर लिखे खिलौने के नाम पढ़े आपने कम से कम शब्दों को ब्यान करना है और वो शब्दों का जादू गा्हक को अपकी दूकान तक खीचने के लिए मजबूर करते हो.


---------------******----------------

5 टिप्स कपड़े की दुकान के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | kapdo ki dukaan liye vigyapan in hindi

5 टिप्स कपड़े की दुकान के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | kapdo ki dukaan liye vigyapan in hindi

लोग तरहां - 2 के घरेलू बिजनेस करते है,कुछ बिजनेस Short टाइम के लिए होते हैं और कुछ Life Time की सूची में आते है और कुछ Seasonal business की लिस्ट में.

जैसे कि गर्मियों में पहने जाने वाले कपड़े का व्यापर और सर्दियों में सर्दी के कपड़े का व्यापर, तो ऐसे ही कुछ सदाबहार बिजनेस भी है.जिनमें से एक  बिजनेस का नाम सबसे उपर आता है वो है kapdo ka business.



कपड़े की दुकान का विज्ञापन in hindi  | कपड़े की दुकान के लिए एक विज्ञापन लिखिए | cloth shop advertisement poster
vishvtrading.com


कपड़ो का बिजनेस सदाबहार बिजनेस कि सूची में आता है,हर कोई चाहता है,कि वह अच्छे से अच्छे कपड़े पहने ऐसे में जो लोग कपड़े का बिजनेस करते हैं वह अच्छी कमाई करते हैं.


लेकिन,यह बिजनेस आपके लिए तभी फायदेमंद रहेगा,अगर कपड़े का बिजनेस करने का तरीका सहीं है.जैसे की आपकी Dealing और आपके कपड़े का रेट आदि. 


दूसरी तरफ बात करें, Garment shop शुरू करने के लिए अगर आप कम - पढ़े लिखे भी हो तो भी रेडीमेड कपड़े की होलसेल दुकान खोल सकते हो.


क्योंकि,आपको बहुत सारे ऐसे लोग मिल जाएंगे जो कम पढ़े-लिखे हैं और rediment kapde ki dukan  से अच्छी कमाई रहे हैं.जहां पर एक बात है कि कपड़े की दुकान करने के लिए.


अगर आप नॉर्मल कपड़े की दुकान भी करते हो,तो उसके लिए आपके पास दो तीन लाख रपए होना चहिऐ,कुछ लोग ऐसे भी होते हैं.की वो लोन लेकर कपडे की दूकन को चालू कर लेते है.


आप भी ले सकते हो agar दुकान नहीं चली तो बाद में फिर प्रॉब्लम hogi,अगर रेडीमेड कपड़े का बिजनेस करना हीं चहाते हो,छोटी सी दुकान खोल ले इसके लिए आपको 60,000/70000 हज़ार चहिऐ.इसमें चाहे दुकान घर मे यां फिर किराऐ पर लेकर खोल सकते हो. 


जहां नीचे और अगर आप कपड़े का व्यवसाय शुरू करने जा रहे हो,समझ ले कि आपने अपने शहर में कपड़े की नई दुकान खोली है,अब बारी है कि जो एडवर्टाइजमेंट है वह कैसे की जाए.


जहां इस आर्टिकल में आप को विस्तारपूर्वक समझाया जाएगा,कि एक रेडिमेड गारमेंट्स शॉप के लिए विज्ञापन कैसे तैयार किया जाता है,आप इन नीचे दिऐ गए टिप्स को फॉलों करके कपड़े की दुकान का विज्ञापन लिख सकते हो 


5 टिप्स कपड़े की दुकान के लिए विज्ञापन कैसे लिखे | kapdo ki dukaan liye vigyapan in hindi


1.संक्षेप में लिखना :-   बात करें,आज की टाइम की, आज के समय लोगों के पास टाइम बहुत कम,ऐसे में विज्ञापन लिखते समय आपने बहुत ही Short शब्दों का उपयोग करना है. 

1 लाइन / टू line का विज्ञापन लिखिए और उसमें कुछ ना कुछ छूपा  होना चाहिए,जिसको पढ़ कर ग्राहक का मन करे,कि हां मुझे हां मुझे भॉप पर जाना चहिऐ.


 2. नॉर्मल शब्दों का उपयोग :- विज्ञापन लिखते समय बहुत ही Normal शब्दों का उपयोग करें,ज्यादा मुश्किल शब्दों का प्रयोग करने से एक कम पढ़ा - लिखा इंसान  kapde ki dukaan ka vigyapan नहीं पढ़ सकता.


3. छोटा advertisement :-  कपड़े की दुकान के लिए विज्ञापन लिखते समय इसको  छोटा रखना है जिसके बारे में बात कर रहे हो उसी के बारे में इश्तहार लिखें, फालतू के शब्दों का जिनका इश्तहार के साथ कोई लेना - देना नहीं उनको ना उपयोग करें.



4.Attractive शब्दों का इस्तेमाल करें :- Garment shop ka vigyapan लिखते समय एक बात का और ध्यान रखना है,कि आपने विज्ञापन को आकर्षक शब्दों के साथ बंद करना है,जैसे की मिसाल के तौर पर..... 

1.अभी खरीदें. 
2.लिमिटेड ऑफर. 
3.ऑफर केवल आज शाम तक है. 

इस तरह की अकर्षित शब्द Customer को मजबूर कर देते हैं,ग्राहक को आपकी दुकान तक खींचने के लिए दूसरी तरफ सोचने के लिए.



5.विज्ञापन की भाषा :-  रेडीमेड कपड़े की दुकान का विज्ञापन लिखते समय एक बात का और ध्यान रखना है वह है Language का,जिस इलाके में आप गारमेंट कपड़ों की दुकान खोल रहे हो.

वहां के लोग ज्यादा कौन सी भाषा को बोलचाल में प्रयोग करते हैं,मिसाल के तौर पर अगर आप को समझाएं आप की पटियाला गांव के आस - पास कपड़ों की दुकान खोलते हो.

और वहां पर आस - पास के इलाकों में उर्दू में  दुकान का विज्ञापन करवाते हो 90 परसेंट लोग आपका विज्ञापन पढ़ नहीं सकते,क्योंकि वहां पंजाबी बोली जाती है ना की उर्दू भाषा,ऐसे में अपने भाषा का विशेष ध्यान रखना है.



यहां नीचे आप बच्चों के कपड़ों पर छूट का एक आकर्षक विज्ञापन 20-30 शब्दों में तैयार कीजिए यां फिर ऐसे तैयार करवा सकते हो.


खुशखबरी | खुशखबरी | खुशखबरी 

1.10 प्रतिशत की छूट मरदों के लिए......वांह
2.औरतों के लिए 20 प्रतिशत की छूट.......वांह
3.छोटों बच्चो के लिए 15 प्रतिशत तक की छूट. ......Oh my God 

...Sale ...........Sale .............Sale 

1.दूकान का नाम .........
2.फोन नंबर .........
3.दूकान का पता ........
4.दूकान खूलने का समय .......

जरूरी सूचना :— यहां पर आप गर्मीयों और सर्दीयों के लिए अलग — अलग समय तय कर सकते हो.



2.कपड़े की दुकान का साधरण विज्ञापन 

आइिऐ माता जी बहन जी रेट हमारा नहीं..... आपका होगा 
उपर से मिलेगी भारी छूट तो आइिऐ दुकान पर और लीजिऐ भारी छूट.

1.दूकान का नाम .........
2.फोन नंबर .........
3.दूकान का पता ........
4.दूकान खूलने का समय .......


अंत में :— तो ऐसे आप उपर दी गए बांतों का ध्यान रखते हुऐ एक सानदार और दमदार kapdo ki sale ke liye vigyapan यां​ फिर एक साधारण कपड़ों की दूकान के लिए advertisement लिख सकते हो.

 

{Our social network links} 

1.https://www.facebook.com/vishvtrading

2.https://t.me/businessideaschathindi

3.https://in.pinterest.com/vishvtradingcom

4.https://www.linkedin.com/in/vishv-tradingcom

                                             *********


मोबाइल की दुकान का विज्ञापन | mobile ki dukan ka vigyapan

मोबाइल की दुकान का विज्ञापन | mobile ki dukan ka vigyapan

रा एक पल के लिए सोच कर देखें,कि आप बिना एडवर्टाइजमेंट किऐ दुकान अपने Gaon mein | शहर में | किसी गली - मोहल्ले में खोलते हो.

तो आपकी दुकान चलेगी जरूर.......यह नहीं कि दुकान की एडवर्टाइजमेंट नहीं हुई और कोई भी  Dukaan पर मोबाइल फोन लेने के लिए नहीं आएगा.


बात करें,आज के टाइम की तो आज का Time टेक्नोलॉजी के साथ जुड़ा है,आज का जमाना इंटरनेट का जमाना है जो कि हमारी जिंदगी का हिस्सा बन चुका है.

mobile advertisement in hindi | phone advertisement in hindi | mobile ka vigyapan
vishvtrading.com


आप एक पल के लिए Soch कर देखो ठंडे दिमाग से आप Bina internet ke के नहीं रह सकते,इंटरनेट बंद हो गया आप सोचिए कि आप को कितना नुकसान होगा.

इसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते,इसी तरह आज के समय में अगर आप सोच रहे हो कि New mobile shop कि अगर Advertisement नहीं करेंगे.


इनको पढ़े : - कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन || Coaching centre ke liye vigyapan 

इनको पढ़े : - गांव के 10 बेस्ट बिजनेस laghu udyog in village


तो ऐसे हमारा काम चल जाएगा,तो आपकी यह सोच गलत साबित हो सकती है और एडवर्टाइजमेंट ना करने का आपको नुकसान भी होगा इतना नहीं होगा लेकिन होगा जरूर.

वो टाइम बीत चुका है,जब लोग अपनी नई खोली दुकान इसमें कोई भी Shop ले सकते हो जैसे कि:-

1.कपड़े की दुकान 
3.मिठाई की दुकान.
4.सुनहरे की दुकान.

आदि कि लोग बिना प्रचार किए अपनी दुकान चला लेते थे और दुकान पर ग्राहकों की भी भीड़ अच्छी देखने को मिलती थी ........ इसके पीछे की एक सबसे बड़ी वजह जय थी.


कि उस वक्त अगर अपने नई दुकान खोली है मिसाल के तौर पर ले लीजिए " कि आप अपने गांव में मिठाई की दुकान का मुहूर्त किया ....... मिठाई की दुकान का नाम भी आपने बड़ा अच्छा रख लिया.

तो बिना किसी को कहे बिना किसी को बोले आपने काम आरंभ कर दिया .......... लोगों की भीड़ अच्छी लगने लगी दुकान पर...... क्योंकि इसकी वजह यह थी.



कि आपके गांव में केवल आपकी ही दुकान थी .... बात को समझ रहे हो ना .....आप दूसरे गांव में भी और तीसरे को में भी दुकान नहीं थी .......क्योंकि दुकान वही खोलता था.

जिसके पास चार पैसे होते थे ...... कम पैसे वाला दुकान नहीं खोल सकता था तो जो कंपटीशन था वो जीरो था अगर दुकान का प्रचार नहीं करते थे,तो कोई बात नहीं काम चल जाता था.



किंतु बात आज के बेला की जाए तो आज का टाइम पुराने समय से बिल्कुल उलट hain बात कंपटीशन की करें  कोई भी फील्ड ले लो उसमें भर-2 के कंपटीशन मिलेगा.

तो ऐसे में कोई भी नई चीज मार्केट में अगर उतारते हो तो बिना विज्ञापन से मार्केट में अपनी जगह नहीं बना पाओगे जो जगह आप मार्केट में बनाना चाहते थे.इसीलिए,बिना Parchar किए आपको वह सेल / ग्राहक नहीं मिल पाएंगे, जिन गा्हक को आप अपने प्रोडक्ट की सेल करवाना चाहते हो..



बात चल रही है,New mobile shop के बारे में,तो जहां पर आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें,कि अगर  मार्केट में कोई बड़ा शोरूम खोल रहे हो किसी भी कंपनी की एजेंसी ले रहे.

हो जैसे:-वोडाफोन | एप्पल कंपनी | रियल मी | सैमसंग अगर आपने पहले से एडवर्टाइजमेंट दुकान की कर रखी है,या फिर नए सिरे से मोबाइल दुकान की Advertisement करवाना चाहते हो.


जहां पर आप लोगों को इसके बारे में विस्तार पूर्वक बताया जाएगा समझाया जाएगा और फिर आप दोनों तरीकों से मोबाइल की दुकान का विज्ञापन तैयार कर सकते हो.इसमें बात की है दोनों तरीकों की इसमें एक ऑनलाइन तरीका रहेगा और दूसरा ऑफलाइन तरीका रहेगा.




{ मोबाइल की दुकान का विज्ञापन | mobile ki dukan ka vigyapan }

मोबाइल दुकान के लिए विज्ञापन लिखिए यां फिर लिखवाने से पहले आपको कुछ मोटी-2 बातों का ध्यान रखना पड़ेगा,जिसके बारे में नीचे बड़े विस्तारपूर्वक वह भी आपकी भाषा हिंदी में.

समझाने की पूरी-2 कोशिश की गई है,ताकि आप एक बेहतर से बेहतर विज्ञापन तैयार करवा कर इस तरीके से मोबाइल की दुकान का प्रचार कर सकें.


1.योजना बनाना 

फोन की दुकान के लिए या फिर मोबाइल शोरूम के लिए विज्ञापन तैयार करवाने से पहले आप एक छोटी रूपरेखा बनाइए जिसमें Offline विज्ञापन दे रहे हो.जैसे कि जो पोस्टर कहां -2 पर लगवाने हैं.

और कितने एरिया को आपने कवर करना है और कितना विज्ञापन पर खर्च आएगा ,विज्ञापन का कलर और इसका साइज इतना रखना होगा.आधी आपको पहले एक Planing बना लेनी है,ताकि बाद में किसी किस्म की कोई Problems ना आए.


2.ऑडियंस को समझना 

एक बात का और ध्यान रखना है,Audacious को टारगेट करके विज्ञापन बनाना है.जैसे कि एक कोचिंग सेंटर का अगर पोस्टर स्कूल और कॉलेज के आगे लगाते हैं.

तो ऐसे में उम्मीद है कोचिंग सेंटर में स्टूडेंट ki गिणती बढ़ जाऐगी और अगर पोस्टर आप सब्जी मंडी में लगाओगे तो आपको कुछ नहीं मिलेगा.इस तरह अपनी ऑडियंस को टारगेट करें जिसमें ज्यादा फायदा होगा.


यहां नीचे आपको मोबाइल की दुकान का विज्ञापन वो भी आपकी भाषा हिन्दी में दिया गया है,जिसके अधार पर mobile shop ke liye vigyapan लिख सकते हो यां फिर print करवा सकते हो.

" खुशखबरी .......... खुशखबरी........ खुशखबरी" 

बहन जी | माताजी | मामा जी | चाचा जी आप सभी के लिए खुशखबरी है खुशखबरी है..... आपकी परेशानी को समझते हुए..... आपके इलाके में खुल गई है नई मोबाइल की दुकान.... आप को सबसे सस्ता और सबसे बढ़िया और सबसे पहले फोन दिया जाएगा. 

जहां पर आप हर तरह का मोबाइल छोटा हो या बड़ा हो 5 मिनट में खरीद सकते हो.... मोबाइल प्राइस सुनकर आप बोलोगे कि वह क्या प्राइस है..... तो आईए मेहरबान कदरदान .........हमें अपनी सेवा का एक बार मौका तो दीजिऐ. 


खास ऑफर 

1.हमारी दुकान से मोबाइल लेने पर आपको मिलेगी फ्री में टीशर्ट. 
2.अगर आप हमारी दुकान से मोबाइल खरीदते हो तो फर्स्ट रिचार्ज हमारी तरफ से फ्री किया जाएगा.  

हमारी दुकान का पता.......... 
फोन नंबर............
हमारा ईमेल एड्रेस............. 
व्हाट्सएप नंबर.......... 


अंत में=  ऊपर आपको विस्तार पूर्वक बताया,अगर नई मोबाइल की दुकान या फिर इससे हटकर मोबाइल फ़ोन मरम्मत की दुकान अपने अगल - बगल में | अपने शहर | मोहल्ले |  किराए पर खोलते हो तो काम शुरू करने के बाद आप कुछ इस तरीके से और इन बातों को ध्यान में रखकर नई मोबाइल फ़ोन दुकान के लिए विज्ञापन तैयार करवा सकते हो उम्मीद रहेगी आपको पता चल गया होगा.

 
कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन | Coaching centre ke liye vigyapan | Tuition advertisement

कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन | Coaching centre ke liye vigyapan | Tuition advertisement

Tuition advertisement :- पिछले आर्टिकल में आपको विस्तारपूर्वक समझाया गया,अगर आप अपने शहर में | अपने Gaon mein  न्यू कोचिंग सेंटर खोल रहे हो उसका नाम क्या रखना चाहिए/यां फिर होना चहिऐ.




और Name रखते Vakat आपको किन - 2 बातों का ध्यान रखना है,वह विस्तारपूर्वक आपकी सेवा में पेश किया गया.आप चाहे New कोचिंग सेंटर खोल रहे हो.


कोई नई किराने की दुकान खोल रहे हो,या फिर कोई Mobile accessories shop अपने गली - महल्ले में खोल रहे हो,आपकी जानकारी के लिए बता दें.

------------------------------------------

Highlights



coaching center poster | tuition center posters for tuition classes | tuition advertisement
vishvtrading.com


कि आपके कार्य में नाम का बड़ा Role रहता है.आपको अपके नाम से लोग कम जानते होगे, लेकिन अपकी दुकान के नाम से ज्यादा.


-----------------------------------

Highlights

-----------------------------------


आगे बात की फर्ज करें अपने computer coaching center अपने गांव में आरंभ किया,उसका नाम भी बढ़िया सा रखा, तो अब यहां पर गैर करने वाली बात यह रहेगी.


किसी को कैसे पता चलेगा,कि आपने गांव में Tuition center खोला है.अब यहां पर ध्यान से समझे की Gaon वालो को तो Suru से हीं पता चल गया.



जब Tuition center का कमरा बना रहे होगे,उनको खुशी होई होगी की हम यहां पर अपने बच्चें को टूशन के लिए भेज सकते है.


यहां पर गैर करने वाले बात यह Hain की आपके गांव के बिना जो पास में दूसरा गांव यां फिर तीसरा गांव बसता है,उनको कैसे पता चलेगा ? यह सोचने वाली बात है.


बहुत से लोग इस बात पर गैर नहीं करते,लेकिन पुराने समय में जो इंसान नई दुकान खोलता था जैसे की किराने की दुकान तो ऐसे में वो इंसान अपनी दुकान के प्रचार के लिए गांव के किसी बंन्दे को 100/ 50 रपए देकर आस-पास के ईलाकों में डोढ़रा पीटव देता था.



ऐसे में आसपास के लोगों को गांव वालों को शहर वालों को पता चल जाता,कि उस बंदे ने उस Gaon mein इस काम को Start किया hain.लेकिन समय के साथ जैसे- 2 Time बीता तो प्रचार करने के तीरकों में बडा Change आया. 



फिर दैर आया पेंटिंग के जरिए प्रचार करने का जो लोग पेंटिंग बनाते थे आर्टिस्ट थे,दुकान वाले दुकान का प्रचार पेंटिंग के जरिए करवाने लगे,आप अच्छी तरह से जानते होंगे.

कि फिल्म का जो प्रचार था वह भी पेंटिंग के जरिए किया जाता था,जो कि बड़ा कामयाब रहा और पेंटर लोगों  के लिए यह रोजी— रोटी का अच्छा साधन था,तो ढोढ़रों पीटने के तरीके की जगा अब इस पेंटिग के काम ने ले ली. 

वक्त बदला और वक्त के साथ Dukan ke parchar करने के तरीके में भी बदलाव आया लोग Radio पर दुकान का प्रचार करवाने लगे और फिर उसके बाद टीवी आया और लोग दुकान के प्रचार के लिए dukan ka vigyapan television पर देने लगे.


फिर Time के साथ Computer  का जमाना आ गया,जिसने सब कुछ डिजिटल कर दिया अब बात करें कोचिंग सेंटर के विज्ञापन की कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन आप दो-तरीकों से कर सकते हो

Coaching centre ke liye vigyapan आपने कैसे लिखना है.उसके बारे में नीचे आपकी भाषा हिंदी में आपको बड़े विस्तारपूर्वक समझाया गया है.



कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन | Coaching centre ke liye vigyapan | Tuition advertisement

कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन लिखने से पहले कुछ मोटी-मोटी बातों का ध्यान रखना है,जिनके बारे में नीचे आपको बड़े विस्तार पूर्वक बताया गया. 

1.एक ही भाषा में विज्ञापन को ना छवाऐ.
2.विज्ञापन की भाषा बहुत ही सरल होनी चाहिए. 
3.हमेशा ही Attractive भाषा में विज्ञापन छवाऐ. 
4.विज्ञापन को मोटे - मोटे शब्दों में लगवाए,ताकि वह इंसान भी पढ़ सके जिसकी नजर कमजोर है.



............ कांचिंग सैंटर का नाम ............

खुशखबरी | खुशखबरी | खुशखबरी

" आपको बताते हुऐ बडी खुशी हो रही है,की अब आपके गांव / शहर में नयां कांचिग सैंटर खुल गया है.यहां पर आपके बच्चें को बेहतरहीन तरीके से ट्यूशन पढ़ाया जाएगा 

बच्चों को उच्च शिक्षा देने के लिए हमारे पास बेहतरीन Teachers है.इसके बिना हमारे कोचिंग सेंटर पर बच्चों के लिए विशेष प्रबंध किया गया है जैसे:- 

1.बदलते मौसम के साथ ठंडे और गर्म पानी का खास प्रबंध. 
2.बच्चे और लड़कियों के लिए अलग-अलग Bathroom. 
3.हमारे कोचिंग सेंटर में लाइट चले जाने के बाद इनवर्टर का खास तौर पर प्रबंध है. 
4.सर्दियों में बच्चों के लिए हीटर और गर्मियों में बच्चों के लिए कूलर का खास प्रबंध है.
5.फी् में मास्क दिया जाता है.
6.Corona safety kit आपको फी् में मिलेगी.
7.लॉकडाउन में आनलाईन पढ़ाई करने के लिए नैंट फी् में दिया जाऐगा.
8.कोरना काल में बच्चों को आनलाईन पढ़ाई का खास इंतजाम. 

Mobile number .....................
Opening Time ............................ गर्मीयों और सर्दीयों के लिए

............  खांस आफर .... एक हीं घर के दो बच्चें को एक को टूशशन मुफत दिया जाऐगा.


कुछ इस तरह से कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन बनाइए और बाद में इनको अपने आसपास के इलाकों में गली मोहल्ले में लगवा दें,तो ऐसा करने से आपके कोचिंग सेंटर की एक बेहतरीन तरीके से एडवर्टाइजमेंट होगी 


 

1.कोचिंग सेंटर का प्रचार कैसे करे ?

बहुत करें,कोचिंग सेंटर के प्रचार करने की,तो आज के जमाने में प्रचार कई तरीकों से कर सकते हो.इन तरीकों में से जो सबसे ज्यादा कारगर तरीके हैं.

प्रचार करने के लिए इनमें से एक तरीका है ऑफलाइन तरीके से कर सकते हो और दूसरा तरीका ऑनलाइन  तरीके से Parchar कर सकते हैं.जहां नीचे इसके बारे में विस्तार पूर्वक समझाया गया hain आइए जाने इन दो तरीकों के बारे में.



1.ऑफलाइन तारिके से प्रचार कैसे करें

कोचिंग सेंटर का ऑफलाइन प्रचार इस vidhi से करवा सकते हो,कि इसके पोस्टर छपवा कर गांव के आसपास के इलाकों में | शहर में | गली मोहल्ले aur  स्कूल | कॉलेज के पास लगा सकते हो,इस तरीके के जरिए जो प्रचार होगा Bho आपका ऑफलाइन प्रचार कहलाएगा. 



2.ऑनलाइन तरीके से प्रचार कैसे करें

अब आगे बात करें, कि Online तरीके से हम कोचिंग सेंटर का प्रचार कैसे करेंगे तो इसके लिए जो सबसे कारगर तरीका Google advertising के जरिए आप अपने सेंटर का प्रचार कर सकते हो.इसके बिना यूट्यूब के माध्यम से फेसबुक | इंस्टाग्राम के माध्यम से भी आप अपने tuition center का प्रचार कर सकते हो.


अंत में :- इस तरीके से नए खोले कोचिंग सेंटर के लिए विज्ञापन बनाइए,उसके बाद ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से प्रचार करें,जिसका बेनिफिट यह रहेगा की लोगों को सेंटर के बारे में ज्यादा से ज्यादा पता चलेगा.